अरबपतियों के मामलें में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा देश बना भारत, बड़े दौलतमंद देश भी रह गए पीछे

अरबपतियों के मामले में भारत अब दुनियाभर में तीसरे पायदान पर आ गया है अौर आने वाले 10 वर्षों में इसमें आैर भी जोरदार तेजी देखने को मिलेगी।

By: Ashutosh Verma

Published: 24 May 2018, 11:57 AM IST

नर्इ दिल्ली। एक तरफ भारत में महंगार्इ के दौर से आम जनता परेशान हो वहीं दूसरी तरफ भारत में तेजी से अरबपतियों की संख्या बढ़ रही है। अरबपतियों के मामले में भारत अब दुनियाभर में तीसरे पायदान पर आ गया है अौर आने वाले 10 वर्षों में इसमें आैर भी जोरदार तेजी देखने को मिलेगी। अफ्रएशिया बैंक ग्लोबल वेल्थ माइग्रेशन रीव्यू के एक हालिया रिपोर्ट में ये बात सामने आर्इ है। इस रिपोर्ट के मुताबिक साल 2027 तक भारत में अमीरों की सूची में कुल 238 अरबपति आैर जुड़ जाएंगे।


अगले दस साल में भारत में होंगे 357 अरबपति

इस रिपोर्ट के अुनसार भारत में माैजूदा समय में कुल 119 अरबपति है, जो की साल 2027 में बढ़कर ये संख्या 357 तक हो जाएगी। इस लिहाज से देखें तो आने वाले 10 सालों में भारत में 238 अरबपति आैर बढ़ जाएंगे। दूसरे देशों में कुल अरबपियों की बात करें तो चीन में 448 अरबपति हैं। फिलहाल अमरीका पहले पायदान पर अौर चीन दूसरे पायदान पर है। अनुमान है कि साल 2027 तक अमरीका में कुल अरबपतियों की संख्या 884 हो जाएगी। वहीं 2027 तक चीन में कुल 697 अरबपति होंगे। इस रिपोर्ट में अरबपतियों से एेसे लोगों का मतलब है जिनकी कुल संपत्ति एक अरब डाॅलर या उससे अधिक है। अन्य देशोें में भी अरबपतियों की संख्या तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। भारत, चीन आैर अमरीका के अलावा जिन देशों में अरबपतियों की संख्या में तेजी से वृद्वि होने की उम्मीद है उनमें रूस (142), ब्रिटेन (113), जर्मनी (90) अौर हांग कांग(78) भी शामिल हैं।


भारत दुनिया का छठा सबसे अमीर देश

माैजूदा समय में दुनियाभर में 2,252 अरबपति हैं। आैर आने वाले दस साल में इनकी संख्या बढ़कर 3,444 होने की उम्मीद है। कुल संपत्ति की बात करें तो भारत दुनिया का छठा सबसे अमीर देश है। भारत की कुल संपत्ति 8,230 अरब डाॅलर है। अमरीका की कुल संपत्ति 62,584 अरब डाॅलर, चीन की कुल संपत्ति 24,803 अरब डाॅलर है के साथ क्रमशः पहले आैर दूसरे स्थान पर हैं। इस लिस्ट में तीसरे स्थान पर जापान (19,522) है। रिपोर्ट के मुताबिक, उद्यमियों की अधिक संख्या, बेहतर शिक्षा प्रणाली, सूचना प्रौद्योगिकी को लेकर मजबूत रुख, रियल एस्टेट, स्वास्थ्य सेवा और मीडिया समेत अन्य क्षेत्र भारत में संपत्ति निर्माण में मदद करेंगे।

Show More
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned