नीरव, चौकसी के फर्जीवाड़े से चांदी के गहनों का निर्यात 75 फीसदी गिरा, महज 5,832 करोड़ का हुआ निर्यात

  • जेम्स ऐंड जूलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ने जारी किए आंकड़ें
  • पिछले वित्त वर्ष चांदी के गहनों का निर्यात महज 5,832 करोड़ रुपए
  • पिछले साल थी सोने के पदकों और सिक्कों के निर्यात में 55 फीसदी की गिरावट

By: Saurabh Sharma

Updated: 22 Apr 2019, 05:46 PM IST

नई दिल्ली। नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के फर्जीवाड़े से जहां देश के सरकारी बैंकों को तगड़ी चपत लगी है, वहीं चांदी के गहनों का कारोबार भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। बीते वित्त वर्ष में इनके निर्यात में 75 फीसदी से ज्यादा की गिरावट आई है।

यह भी पढ़ेंः- चुनाव के बीच IBC की फॉरेंसिक ऑडिट में हुआ एक लाख करोड़ रुपए के घोटाले उजागर

चांदी के गहनों का निर्यात
जेम्स ऐंड जूलरी एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ( जीजेईपीसी ) के आंकड़ों के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष चांदी के गहनों का निर्यात महज 5,832 करोड़ रुपए ( 83.8 करोड़ डॉलर ) रह गया। वित्त वर्ष 2017-18 में यह 23,664 करोड़ रुपए (340 करोड़ डॉलर) रुपए था। निर्यात पर सबसे ज्यादा असर सूरत के विशेष आर्थिक क्षेत्र ( सेज ) पर हुआ। जीजेईपीसी ने इसकी वजह जीएसटी रिफंड में देरी और नकदी की समस्याओं को बताया।

यह भी पढ़ेंः- स्थानीय जेवराती मांग बढ़ने से सोना 200 रुपए चमका, चांदी में 30 रुपए की कमजोरी

सोने के निर्यात में आर्इ थी गिरावट
पिछले साल सोने के पदकों और सिक्कों के निर्यात में 55 फीसदी की गिरावट आई थी। इसके लिए डीजीएफटी के उस फैसले को जिम्मेदार बताया गया था, जिसमें 24-कैरट के सोने के सिक्कों और पदकों का निर्यातकों द्वारा गलत इस्तेमाल करने की लगातार आ रही शिकायतों के बाद बैन कर दिया गया था।

यह भी पढ़ेंः- अमरीका के इस फैसले से शेयर बाजार हुअा धड़ाम, सेंसेक्स में करीब 500 अकों की गिरावट, निफ्टी 158 अंक लुढ़का

पुराने आंकड़ों पर उठा सवाल
विश्लेषकों का कहना है कि सिल्वर जूलरी निर्यात में इतनी भारी भरकम गिरावट के आंकड़े पुराने आंकड़ों पर भी सवाल उठा रहे हैं। आरोप है कि नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी ने जो निर्यात दिखाए, वे सिर्फ कागजों तक ही सीमित थे। उनकी कंपनियां केवल कागजों पर ही निर्यात दिखा रही थीं। इसी वजह से आंकड़ों में इतनी कमी आई है, जबकि देश से होने वाले दूसरे किसी निर्यात में इस तरह का बदलाव नहीं देखा गया है।

 

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned