Anil Ambani के लिए खड़ी हुई नई मुसीबत, 21 दिन में चुकाने हैं 5 हजार करोड़ रुपए

  • London Court ने China के तीन बैंकों को 717 Million Dollars चुकाने को कहा
  • Court के अनुसार, Anil Ambani को 21 दिनों के अंदर चुकानी होगी पूरी रकम

By: Saurabh Sharma

Updated: 23 May 2020, 12:11 PM IST

नई दिल्ली। जहां कोरोना वायरस लॉकडाउन ( Coronavirus Lockdown ) मुकेश अंबानी ( Mukesh Ambani ) को खूब भा रहा है और तीन से चार डील कर उन्होंने करीब 70 हजार करोड़ के करीब जुटा लिए हैं। वहीं दूसरी ओर उनके छोटे भाई अनिल अंबानी ( Anil Ambani ) के लिए मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। लंदन की कोर्ट ( London Court ) की ओर से आदेश दिया गया है कि 21 दिनों के भीतर चीन के तीन बैंकों को 717 मिलियन डॉलर ( 5000 करोड़ रुपए से ज्यादा ) का भुगतान करे। हाईकोर्ट ऑफ इंग्लैंड एंड वेल्स के कमर्शियल डिविजन ( Commercial Division of High Court of England and Wales ) के जस्टिस नीगेल टीयरे के अनुसार अनिल अंबानी ने लोन को चुकाने के लिए पर्सनल गारंटी ( Personal Guarantee ) थी, ऐसे में उन्हें रकम चुकानी ही होगी।

यह भी पढ़ेंः- Gold And Silver Price: दो महीने में 3000 रुपए तक सस्ता हो सकता है Gold, क्या है बड़ी वजह

Rcomm से जुड़ा पूरा Case
अनिल अंबानी के प्रवक्ता के अनुसार पूरा केस रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड द्वारा 2012 में कॉर्पोरेट लोन से कनेक्टिड है। इस लोन के लिए अनिल अंबानी की ओर से पर्सनल गारंटी दी थी। वहीं प्रवक्ता की ओर से यह भी कहा गया है कि लोन अनिल अंबानी ने व्यक्तिगत रूप से नहीं लिया था। कोर्ट के आदेश के अनुसार गारंटी प्रतिवादी पर बाध्यकारी है। ऐसे में अनिल अंबानी को पूरी रकम चुकानी होगी। आपको बता दें कि चीन के तीन बैंकों से अनिल अंबानी ने कुल 71 करोड़ 69 लाख 17 हजार 681 डॉलर का लोन लिया था।

यह भी पढ़ेंः- बदल गया देश के सबसे बड़े Bank का Time Table, अब इतने बजे खुलेगा SBI

नहीं किए कभी गारंटी पर साइन
इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना ( ICBC ) की ओर से अपने दावे में उस गारंटी को आधार बनाया है जिसपर अनिल अंबानी की ओर से कभी साइन ही नहीं किया गया था। वहीं उन्होंने अपनी ओर से किसी भी गारंटी को निष्पादित करने के लिए किसी को अधिकृत करने से लगातार इनकार किया है। आपको बता दें कि इससे पहले भी अनिल अंबानी के लिए कानूनी केस मुसीबत बन चुके हैं।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned