कोरोनाः यूपी पंचायत चुनाव की तारीख बढ़ेंगी आगे? सांसद ने की मांग, कहा- लाशों का ढेर लगा है यहां

सांसद ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिख यूपी पंचायत चुनाव (UP Panchayat chunav) को एक महीना स्थगित करने की मांग की है।

By: Abhishek Gupta

Published: 14 Apr 2021, 04:59 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना (Coronavirus in up) के कारण स्थिति भयावह हो चुकी है। खुद मंत्री व सांसद भी इस बात को मान रहे हैं। मंगलवार को यूपी के कानून मंत्री बृजेश पाठक (brajesh pathak) ने स्वास्थ्य विभाग को चिट्ठी लिखकर चिंता जाहिर की थी। तो बुधवार को मोहनलालगंज के भाजपा सांसद कौशल किशोर (Kausal Kishore) ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिख यूपी पंचायत चुनाव (UP Panchayat chunav) को एक महीना स्थगित करने की मांग की है।

इन दिनों उत्तर प्रदेश में कोरोना नए रिकॉर्ड बना रहा है। बुधवार को कोरोना संक्रमितों की संख्या ने रिकॉर्ड तोड़ दिया और पूरे प्रदेश में 20 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित पाए गए हैं। यह देखते हुए भाजपा सांसद कौशल किशोर ने कहा कि इस समय पंचायत चुनाव नहीं बल्कि लोगों की जान बचाना सरकार के लिए जरूरी होना चाहिए।

ये भी पढ़ें- कोरोनाः अगर हैं बीमार, तो घबराए नहीं, घर बैठे जांच से लेकर अस्पताल में दाखिले तक अपनाएं ये Steps

राज्य निर्वाचन आयोग को लिखे पत्र में उन्होंने पंचायत चुनाव की तारीख को एक महीने बढ़ाने की मांग की है। सांसद ने ट्वीट कर कहा कि भारत निर्वाचन आयोग एवं राज्य निर्वाचन आयोग उत्तर प्रदेश से मेरी अपील है कि लखनऊ में करोना बड़ी तेजी से फैल रहा है। लखनऊ में पंचायत के चुनाव भी हो रहे हैं। लोगों को प्रचार प्रसार के लिए जाना पड़ता है। एक दूसरे से मिलना पड़ता है। इसी से करोना को फैलने का सबसे ज्यादा खतरा है।

ये भी पढ़ें- कोरोनाः फिर रिकॉर्ड 18,021 हुए संक्रमित, शवों के लिए लकड़ियां हो रही खत्म, शवदाह गृहों के लिए यह आदेश

चुनाव नहीं, लोगों की जान बचाना जरूरी-

उन्होंने आगे लिखा कि निर्वाचन आयोग से मेरी अपील है लखनऊ में कोविड कंट्रोल से बाहर है। लखनऊ में कई हजार परिवार करोना की चपेट में बुरी तरह बर्बाद हो रहे हैं। श्मशान घाटों पर लाशों के ढेर लगे हुए हैं। चुनाव जरूरी नहीं है, लेकिन लोगों की जान बचाना जरूरी है। इसलिए निर्वाचन आयोग को तत्काल संज्ञान में लेकर पंचायत के चुनाव को लखनऊ में निर्धारित मतदान की तिथि से 1 महीना आगे बढ़ा देना चाहिए, जान बचाना जरूरी है चुनाव कराना जरूरी नहीं है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned