चुनाव आयोग ने किया बड़ा बदलाव, काउंटिंग पूरी होने के तुरंत बाद नहीं होगा जीते प्रत्याशियों के नाम का ऐलान, करना पड़ेगा इंतजार

चुनाव आयोग ने किया बड़ा बदलाव, काउंटिंग पूरी होने के तुरंत बाद नहीं होगा जीते प्रत्याशियों के नाम का ऐलान, करना पड़ेगा इंतजार

Nitin Srivastva | Publish: May, 16 2019 10:35:47 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- मतगणना पूरी होते ही घोषित नहीं होंगे जीते प्रत्याशियों के नाम
- निर्वाचन आयोग ने दिए निर्देश
- अंतिम परिणाम आधी रात तक जारी होने की उम्मीद

लखनऊ. राजधानी लखनऊ की दोनों संसदीय सीटों के परिणाम इस बार राउंड वार मतगणना पूरी होते ही घोषित नहीं होंगे। निर्वाचन आयोग ने मतगणना से जुड़े सभी आंकड़े सुविधा एप पर अपलोड करने के बाद ही विजयी प्रत्याशी के नाम का ऐलान कर प्रमाण पत्र जारी करने का निर्देश दिया है।


आधी रात आएगा परिणाम

वहीं लोकसभा सीट से जुड़ी सभी विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना का जब तक एक चरण पूरा नहीं हो जाएगा, तब-तक दूसरे के मतों की गणना शुरू नहीं होगी। आरओ और एआरओ को राउंडवार मतों का आंकड़ा ऐप पर अपलोड करने को अलग से पासवर्ड दिए जा रहे हैं। ऐसे में लखनऊ शहर और मोहनलालगंज सीट की मतगणना का अंतिम रुझान देर शाम और अंतिम परिणाम आधी रात तक जारी होने की उम्मीद है। आम लोग टोल फ्री नंबर 1950 पर कॉल कर मतगणना की अपडेट जानकारी ले सकेंगे।


मतगणना की गोपनीयता भंग करना पड़ेगा भारी

मतगणना के दिन काउंटिंग कमरों में मौजूद प्रत्याशी एजेंटों को मतगणना की गोपनीयता भंग करना भारी पड़ेगा। मतगणना की गोपनीयता भंग पाए जाने पर काउंटिंग कक्ष में मौजूद प्रत्याशी एजेंट की अनुमति को निरस्त कर प्रत्याशी के मतों की गणना बिना उसके एजेंट की मौजूदगी में कराई जाएगी। साथ ही गोपनीयता भंग करने वाले प्रत्याशी एजेंट के खिलाफ निर्वाचन नियमावली के तहत वैधानिक कार्रवाई भी होगी। इसे प्रभावी बनाने को लेकर 23 मई को होने वाली मतगणना से पहले होने वाली मॉकपोल काउंटिंग के दौरान गणना कक्ष में एजेंट मौजूद रहने वाले सभी प्रत्याशी एजेंटों से मतगणना की गोपनीयता बनाए रखने संबंधी एक शपथ पत्र भी भरवा कर जमा कराया जाएगा।


होगी सख्त कार्रवाई

लखनऊ के उप जिला निर्वाचन अधिकारी और एडीएम प्रशासन एसपी गुप्ता ने दी। मतगणना के दौरान अगर कोई प्रत्याशी एजेंट बार-बार कक्ष के अंदर-बाहर कर मतगणना की गोपनीयता भंग करने में आशंकित पाया जाएगा, तो पहले उसे चेतावनी देकर समझाया जाएगा। इसके बाद भी आचरण में सुधार न पाए जाने पर प्रभारी कर्मचारी ऐसे एजेंट को मतगणना कक्ष से बाहर कर, उसकी अनुमति को निरस्त करने की त्वरित कार्रवाई करेगा।


होगा मुकदमा दर्ज

23 मई को मतगणना में मतों की गिनती और टेबुलेशन शीट पर इन्हें राउंडवार दर्ज करने को अमित कार्मिकों का पहला प्रशिक्षण मेडिकल विश्वविद्यालय के कन्वेंशन सेंटर सभागार में होगा। डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि जो कर्मचारी प्रशिक्षण से बिना सूचना गायब मिलेगा उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned