मोदी सरकार-2 में इन दिग्गज नेताओं को नहीं मिली जगह

मोदी सरकार-2 में इन दिग्गज नेताओं को नहीं मिली जगह

Karishma Lalwani | Publish: May, 31 2019 04:15:23 PM (IST) | Updated: May, 31 2019 05:00:51 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए मंत्रिमंडल में कई दिग्गज नेताओं को जगह नहीं मिल पाई

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नए मंत्रिमंडल के मंत्रियों के विभाग का ऐलान शुक्रवार को किया गया। इसमें कई मंत्रियों के विभाग में बदलाव किए गए, को कुछ एक को पुराने विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई। पिछली सरकार में गृह मंत्रालय का कार्यभार संभालने वाले राजनाथ सिंह को रक्षा मंत्री बनाया गया। अमित शाह को गृह मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई। निर्मला सीतारमण को वित्त मंत्री, स्मृति ईरानी को महिला एवं बाल विकास मंत्री और कपड़ा मंत्री, डॉक्टर हर्षवर्धन को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री नियुक्त किया गया। वहीं पीयूष गोयल को रेल मंत्री, नितिन गडकरी को परिवहन मंत्री, धर्मेंद्र प्रधान को पेट्रोलियम और गैस मंत्री का आवास सौंपा गया। वहीं कई दिग्गज नेताओं को मोदी मंत्रिमंडल में पनह नहीं मिली पाई।

मेनका गांधी

मोदी कैबिनेट में जिन्हें जगह नहीं मिल सकी उनमें सबसे प्रमुख नाम है मेनका गांधी का। मेनका पिछली सरकार में महिला एवं बाल कल्याण मंत्री थीं। लेकिन इस बार उन्होंने मोदी कैबिनेट में शामिल नहीं किया गया। हालांकि, चर्चा है कि उन्हें लोकसभा अध्यक्ष बनाया जा सकता है।

महेश शर्मा

पिछली सरकार में पर्यटन मंत्री रहे महेश शर्मा को भी कैबिनेट में जगह नहीं मिली। कहा जा रहा है कि उन्हें संगठन में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिल सकती है।

अनुप्रिया पटेल

भाजपा की सहयोगी अपना दल की संरक्षक अनुप्रिया पटेल को भी इस बार मोदी कैबिनेट से बाहर किया गया है। माना जा रहा है कि वे इस बार राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार की मांग कर रही थीं, लेकिन उनकी मांग पर बीजेपी की तरफ से कोई क़ल नहीं आया।

अरुण जेटली

नई कैबिनेट में पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली भी शामिल नहीं हैं। उनका प्रभार संभालने की जिम्मेदारी निर्मला सीतारमण को सौंपी गई है। हालांकि, अरुण जेटली ने पहले ही स्वास्थ्य कारणों से मंत्री बनने से इंकार कर दिया था।

सुषमा स्वराज

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी नई सरकार का हिस्सा नहीं हैं। उनके मंत्री बनने पर पहले ही असंमजस था। सुषमा स्वराज ने पहले ही स्वास्थ्य कारणों से चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया था। ऐसे में वे नई सरकार का हिस्सा भी नहीं बन सकीं।

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी की हार से हताश इस युवक ने छोड़ा खाना, किया शराब का सेवन, ओवरडोज से मौत

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned