यूपी सरकार ने दाेगुना किया मनरेगा का बजट, अब हाथ काे मिलेगा काम

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री याेगी आदित्यनाथ ( Yogi Aadityanath ) मनरेगा ( MANREGA ) याेजना के बजट काे 8500 कराेड़ से बढ़ाकर 15 हजार कराेड़ कर दिया है। इससे अब गांव में हर कामगार काे राेजगार मिलेगा।

By: shivmani tyagi

Published: 09 Jan 2021, 10:04 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. लॉकडाउन के बाद गांव तक राेजगार देने के लिए यूपी सरकार ने मनरेगा के बजट काे दाेगुना कर दिया है। नए साल में यूपी पहला प्रदेश है जिसने मरनेगा बजट काे दाेगुना किया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री याेगी आदित्यनाथ ने मीडिया काे दिए एक बयान में कहा है कि वह महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण राेजगार गारंटी अधिनियम ( मनरेगा) के सालाना बजट काे 8500 करोड़ से बढ़ाकर 15 हजार कराेड़ कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: भाई से दुश्मनी का बदला लेने को बुआ ने किया 10 साल के मासूम भतीजे को अगवा

वर्ष 2020 में देश में सबसे अधिक राेजगार मनरेगा से मिला। आकड़े कहते हैं कि मनरेगा में 85 लाख परिवारों के एक कराेड़ 40 लाख 70 हजार लाेगाें काे राेजगार मिला। अब मनरेगा में बजट बढ़ाने के साथ-साथ काम भी बढ़ा दिया गया है। सरकार के इस कदम से अब गांव-गांव तक हर हाथ में राेजगार मिलने की उम्मीद जगी है। इसके साथ ही सरकार ने मजदूरों काे कई अन्य याेजनाओं का लाभ देने के लिए श्रम विभाग से याेजनाओं काे संचालित करने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: बुलंदशहर: रातभर मुनादी कराती रही पुलिस, शराब का सुराग बताने वाले को पांच हजार का ईनाम

श्रम विभाग में पंजीकृत हाेने के बाद अब हर श्रमिक परिवार काे श्रमिक मेधावी छात्र पुरस्कार याेजना, शिशु हित लाभ याेजना, निर्माण कामगार बालिका मदद याेजना, भाेजन सहायता याेजना, चिकित्सा सुविधा याेजना और आवास याेजना समेत सरकार की 17 याेजनाओं का लाभ मिल सकेगा।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned