शेयर ब्रोकर, कारोबारियों के परिसरों पर देशभर में छापे

  • शेयर बाजार में पारदर्शिता लाने को लेकर आयकर विभाग ने उठाया अहम कदम
  • कारोबारियों, शेयर ब्रोकर समेत 33 ठिकानों पर मारे गए छापे

By: manish ranjan

Updated: 08 Dec 2019, 02:27 PM IST

नई दिल्ली। शेयर बाजार में पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से आयकर विभाग ने कहा कि 3 दिसंबर को उसने देशभर में तलाशी और सर्वे अभियान के तहत खास शेयर दलालों एवं कारोबारियों के यहां छापे मारे। इन पर गलत लाभ-हानि दर्शाने का आरोप है। ये छापे देश के 39 जगहों पर मारे गए, जिसमें मुंबई, कोलकाता, कानपुर, दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम, हैदराबाद और गुरुग्राम शामिल रहे।

ये भी पढ़ें: 200 रुपए किलो पहुंचे प्याज के दाम, जनवरी से पहले कीमतों में कमी के आसार नही

रिवर्सल ट्रेड्स के जरिये किए गए कारोबार का पर्दाफाश

बयान में कहा गया कि तलाशी अभियान से रिवर्सल ट्रेड्स के जरिये गलत तरीके से किए गए कारोबार का पर्दाफाश किया गया। इस अवास्तविक तरीके के जरिये अनैतिक रूप से 3,500 करोड़ रुपये की लाभ-हानि में हेरफेर किया गया और कम से कम तीन पेन्नी स्टॉक्स के जरिये हेरफेर से 2,000 रुपये की कमाई की गई। आयकर विभाग ने अभियान के तहत 1.20 करोड़ रुपये जब्त किया। इस हेरफेर के जरिये लाभ कमाने वाले लोग देशभर में हजारों की संख्या में हैं और उनकी पहचान की जा रही है। यह भी देखा जाएगा कि उन्होंने आयकर छुपाया तो नहीं।

ये भी पढ़ें: लगातार तीसरे दिन सोने के दाम 250 रुपए टूटे, चांदी भी 800 रुपए लुढ़की

बाजार में पारदर्शिता लाना जरुरी

ऐसा देखा गया है कि बाजार नियामक सेबी और आयकर विभाग समय समय पर इस तरह की कार्रवाई करता है। ताकि शेयर बाजार के कारोबार में पारदर्शिता लाई जा सके। इसी के तहत सेबी ने कई तरह के पोंजी स्कीम चलाने वाले कंपनियों पर भी नकेल कसी है।

income tax
manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned