scriptnse warns investors avoid investing in unregulated derivatives products | NSE ने इनवेस्टर्स को इन उत्पादों में निवेश न करने की दी सलाह, ये है वजह | Patrika News

NSE ने इनवेस्टर्स को इन उत्पादों में निवेश न करने की दी सलाह, ये है वजह

locationनई दिल्लीPublished: Aug 23, 2021 06:46:46 pm

Submitted by:

Dhirendra Mishra

 

एनएसई ( NSE ) ने नॉनरेगुलेटेड डेरिवेटिव उत्पादों वाले प्लेटफॉर्म की ओर से बड़े रिटर्न देने का मामला सामने आने के बाद निवेशकों को आगाह किया है। एनएसई का कहना है कि ऐसे वादे अमूमन पूरे नहीं होते हैं और इसका नुकसान निवेशकों को उठाना पड़ता है।

National Stock Exchange
National Stock Exchange
नई दिल्ली। शेयर मार्केट ( Share Market ) निवेशकों को स्टॉक्स पर बेहतर रिटर्न मिलने का सिलसिला जारी है। लेकिन नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ( NSE ) ने इनवेस्टर्स ( investors ) को आगाह करते हुए नॉनरेगुलेटेड डेरिवेटिव उत्पादों ( non regulated derivatives) में निवेश से बचने की सलाह दी है। एनएसई की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि निवेशकों को इंटरनेट आधारित ट्रेडिंग मंचों के डिफरेंस और बाइनरी ऑप्शन विकल्पों से बचना चाहिए।
एनएसई ने सोमवार को जारी बयान में कहा कि निवेशक नॉनरेगुलेटेड डेरिवेटिव उत्पादों की ओर से बड़े रिटर्न देने की बात पर भरोसा कर बैठते हैं, जो बाद में नुकसान का सौदा साबित होता है। एनएसई ये सलाह बिना नियमन वाले मंच या वेबसाइट डेरिवेटिव उत्पादों में डिफरेंस के लिए अनुबंध ( सीएफडी ) या बाइनरी ऑप्शन की पेशकश करने की बात सामने आने की बाद दी है।
यह भी पढ़ें

LIC Fraud Alert: पॉलिसीधारक भूल से भी न करें ये काम, डूब सकती है जिंदगी भर की कमाई

क्या होता है सीएफडी और बायनरी ऑप्शंस?

सीएफडी खरीदार और विक्रेता के बीच एक कांट्रैक्ट होता है। इसके जरिे ट्रेडर्स और निवेशकों को बिना अंडरलाइंग एसेट्स को अपने पास रखे ही प्राइस मूवमेंट से प्रॉफिट कमाने का मौका मिलता है। बाइनरी ऑप्शन फिक्स्ड पेआउट पर एक ऑप्शन है जिसमें निवेशक दो संभावित परिणामों का अनुमान का अनुमान लगाता है। अगर अनुमान सही निकलता है तो निवेशक को एग्रीड पेआउट मिलता है और अगर अनुमान सहीं नहीं निकलता है तो निवेशक को अपनी पूंजी गंवानी होती है। इसे बाइनरी इसलिए कहते हैं क्योंकि इसमें या तो मुनाफा होगा या पूंजी गंवा देंगे।
यह भी पढ़ें

National Pension Scheme: केवल 50 रुपए जमा कर पाएं 34 लाख, ये है पूरा गणित

फिर बाइनरी ऑप्शन के तहत निश्चित भुगतान करना होता है। इसमें निवेशक दो संभावित नतीजों में एक का अनुमान लगाता है। यदि उसका अनुमान सही साबित होता है तो निवेशक को तय भुगतान मिलता है। अनुमान गलत होने पर वह अपना शुरुआती भुगतान गंवा देता है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

'द कश्मीर फाइल्स' को IFFI ज्यूरी ने बताया 'वल्गर प्रोपगंडा', अनुपम खेर ने कहा-' शर्मनाक'नवजोत सिंह सिद्धू को मिलेगी बड़ी राहत! जल्द मिल सकती है जेल से रिहाईगुजरात में आज शाम थम जाएगा पहले चरण का चुनाव प्रचार, बीजेपी और आप की ताबड़तोड़ रैलियांIND vs NZ : तीसरे वनडे में इस दिग्गज खिलाड़ी का बाहर होना तय, देखें संभावित प्लेइंग इलेवनVideo: जानिए कैसे और क्यों बढ़ रही सरकार व सुप्रीम कोर्ट की तनातनीगुजरात: जूनागढ़ में जहरीली शराब पीने से 2 की मौत, एक की हालत गंभीरगोमती रिवर फ्रंट स्कैम: CBI की राडार पर फिर आए शिवपाल, निशाने पर IAS भीबच्चियों से रेप के मामले यूपी में सबसे ज्यादा, जानिए कितनों को मिल पाती है सजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.