कच्चे तेल का भंडार घटने के बावजूद कीमतों में नरमी, भविष्य में घट सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम

कच्चे तेल का भंडार घटने के बावजूद कीमतों में नरमी, भविष्य में घट सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम

Ashutosh Kumar Verma | Publish: Sep, 07 2018 05:01:14 PM (IST) बाजार

ट्रेड वाॅर की वजह से तेल की मांग नरम रहने की आशंकाओं के कारण अमरीका में कच्चे तेल का भंडार घटने के आंकड़े आने के बावजूद शुक्रवार को तेल के दाम में कोई बड़ी तेजी नहीं दिखी।

नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल की कीमतों से लोग लगातार परेशान हो रहे हैं। आज एक बार फिर पेट्रोल-डीजल के दाम में बढ़ोतरी की गर्इ है। लेकिन आने वाले दिनों में देशभर में तेल की कीमतों में कमी देखने को मिल सकता है। दरअसल ट्रेड वाॅर की वजह से तेल की मांग नरम रहने की आशंकाओं के कारण अमरीका में कच्चे तेल का भंडार घटने के आंकड़े आने के बावजूद शुक्रवार को तेल के दाम में कोई बड़ी तेजी नहीं दिखी। शुरुआती कारोबार में थोड़ी बढ़त बनाने के बाद कीमतों में फिर नरमी आ गई। कच्चे तेल में पिछले दो दिनों से गिरावट आई है, लेकिन भारत की तेल विपणन कंपनियों ने शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ा दीं।


कच्चे तेल की कीमतों में अनिश्चितता बरकरार
घरेलू वायदा बाजार में कच्चे तेल का वायदा बढ़त के साथ खुला मगर बाद में फिसल गया। हालांकि तेल बाजार के जानकार बताते हैं कि कीमतों में तेजी आएगी क्योंकि अमरीका में कच्चे तेल का भंडार फरवरी 2015 के निचले स्तर पर आ गया है। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर चालू महीने यानी सितंबर डिलीवरी कच्चा तेल वायदा 11.13 बजे पिछले सत्र के मुकाबले सात रुपये की कमजोरी के साथ 4,877 रुपये प्रति बैरल पर बना हुआ था, जबकि इससे पहले वायदा अनुबंध 14 रुपये की बढ़त के साथ 4,898 रुपये पर खुलने के बाद 4,867 रुपये प्रति बैरल तक फिसला।


कच्चे तेल के दाम में इतने फीसदी आर्इ कमजोरी
अंतर्राष्ट्रीय बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर नवंबर डिलीवरी ब्रेंट क्रूड 0.07 फीसदी की कमजोरी के साथ 76.45 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था, जबकि इससे पहले दैनिक कारोबार में वायदा अनुबंध में 76.70 डॉलर प्रति बैरल तक की बढ़त देखी गई। हालांकि अक्टूबर डिलीवरी अमरीका लाइट क्रूट वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट यानी डब्ल्यूटीआई न्यूयॉर्क मर्के टाइल एक्सचेंज यानी नायमैक्स पर 0.09 फीसदी की बढ़त के साथ 67.83 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था, इससे पहले दैनिक कारोबार में 67.97 डॉलर तक की बढ़त देखी गई।


40.15 करोड़ बैरल बचा है अमरीका के पास कच्चे तेल का भंडारण
अमरीकी एनर्जी इन्फोरमेशन एडमिनिस्ट्रेशन यानी ईआईए की ओर से गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार 31 दिसंबर को समाप्त हुए सप्ताह में अमरीका में कच्चे तेल का भंडार 43 लाख बैरल घटकर 40.15 करोड़ बैरल रह गया। इस बीच भारत की तेल विपणन कंपनियों ने शुक्रवार को फिर पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी कर दी। देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 79.99 रुपये प्रति लीटर और डीजल 72.07 रुपये प्रति लीटर हो गया है। मुंबई में पेट्रोल का दाम 87.39 रुपये प्रति लीटर हो गया है और डीजल 76.51 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

Ad Block is Banned