खौफनाक: गंधक पोटाश में विस्फोट, युवक का हाथ कटा, आंख भी उड़ी

Highlights:

-तीन भाई गंभीर घायल

-विस्फोटक पीसते समय धमाके के साथ फटा इमान दस्ता

-थाना लावड़ के गांव खरदौनी का मामला

 

By: Rahul Chauhan

Published: 13 Nov 2020, 05:16 PM IST

मेरठ। पटाखों पर लाख प्रतिबंध के दावे किए जाए। लेकिन देहात के इलाकों में गुपचुप तरीके से पटाखे बनाने का काम चल रहा है। लावड़ थाना क्षेत्र के खरदौनी गांव में गुरुवार देर रात गंधक पोटाश इमाम जस्ते में पीसने के दौरान इमाम जस्ता फटने से धमाका हो गया। धमाके की चपेट में आने से तीन सगे भाई गंभीर रूप से घायल हो गए। इनमें से एक का हाथ कट गया और आंख उड़ गई। आनन-फानन में तीनों को मेरठ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें : चंडीगढ़ से मेरठ के बीच चलती ट्रेन से 400 टन क्लिंकर चाेरी

दरअसल, खरदौनी गांव निवासी सतीश मजदूरी कर अपने परिवार का पालन-पोषण करता है। गुरुवार देर रात सतीश की पत्नी चिकित्सक के यहां दवाई लेने गई थी, जबकि सतीश काम से नहीं लौटा था। इसी दौरान बड़ा बेटा शिवम बाजार से लाई गई गंधक पोटाश को इमाम जस्ते में डालकर पीसने लगा। गंधक पोटाश पीसने के दौरान अचानक उसमें विस्फोट हो गया, जिस कारण इमाम जस्ता फट गया। विस्फोट की चपेट में आने से शिवम का एक हाथ कट गया व एक आंख क्षतिग्रस्त हो गई।

यह भी पढ़ें: शादी का झांसा देकर कई वर्षों तक शादीशुदा युवक करता रहा रेप

वहीं, उसका छोटा भाई मोनू व अनंत का चेहरा भी बुरी तरह झुलस गया। जानकारी मिलने पर माता-पिता और पड़ोसी घर की ओर दौड़ पड़े। आनन-फानन में घायल तीनों बच्चों को मेरठ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। थाना प्रभारी उपेंद्र मलिक का कहना है कि बच्चों को गंधक पोटाश की जानकारी नहीं थी। वह पहली बार गंधक पोटाश लेकर आए थे। मामले की जांच की जा रही है। उन्होंने उस व्यक्ति के बारे में पता किया जा रहा है जिससे बच्चे गंधक और पोटाश लेकर आए थे। उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned