लालच: साैतेले मासूम भाई का पहले अपहरण किया फिर उसे चाकुओं से काट डाला

  • 50 लाख के प्लॉट विवाद में सौतेले भाई का किया अपहरण
  • चाकू से गोदकर उतार दिया मौत के घाट
  • बालिग होने पर सौतेला भाई बन जाता प्लाट का हकदार

By: shivmani tyagi

Updated: 26 Jul 2020, 07:05 PM IST

मेरठ ( Meerut News in Hindi ) सौतेली मां और भाईयों की नफरत ने युवक के सिर पर हत्या का जनून सवार कर दिया। आराेपी युवक ने पहले अपने सौतेले भाई का अपहरण किया फिर उसे चाकुओं से गोदकर ( murder ) मार डाला। हत्या के पीछे 50 लाख रुपये कीमत के प्लाट के बंटवारा भी वजह बना है। पुलिस ने हत्याराेपी काे गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें: मेरठ में पुलिस का लाठीचार्ज वीडियाे हुआ वायरल

घटना मेरठ की है। 50 लाख के प्लॉट और पारिवारिक विवाद में सौतेले भाई फतेल्लाहपुर निवासी अरमान सैफी का अपहरण के बाद चाकू से गोदकर हत्या कर दी। पुलिस ने शनिवार की रात अरमान का शव बिजली बंबा बाईपास के पास से बरामद कर हत्यारोपी अरमान के सौतेले भाई समीर उर्फ सोनू पुत्र नौशाद और पड़ोसी शाहरुख को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें: मास्क लगाने काे कहा ताे भाजपा नेता ने सेल्समैन काे दाैड़ा-दाैड़ाकर पीटा, वीडियो वायरल

एसपी सिटी डॉक्टर एएन सिंह के अनुसार फतेल्लाहपुर निवासी नफीसा पत्नी मोबीन के पुत्र अरमान का अपहरण हो गया था। 25 जुलाई को मुकदमा दर्ज हुआ था। नफीसा ने बताया था कि अरमान 23 जुलाई को पड़ोसी शाहरुख के साथ निकला था लेकिन लौटा नहीं। पुलिस ने जांच पड़ताल के आधार पर शाहरुख और समीर को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो दोनों ने हत्या करना कबूल कर लिया।

यह भी पढ़ें: पुलिस को गांव में आने पर गोली मारने की धमकी देने वाला का हुआ बुरा हाल, वीडियो वायरल होने पर SSP ने सिखाया सबक

एसपी सिटी के अनुसार 23 जुलाई को ही हत्या कर अरमान का शव जुर्रानपुर फाटक के पास एक खेत में फेंक दिया गया था। हत्या में प्रयुक्त चाकू बरामद कर लिया गया है। फतेल्लाहपुर निवासी सौतेले भाई अरमान सैफी की हत्या के आरोपी समीर उर्फ सोनू ने पूछताछ में खुलासा किया कि उसे अरमान की मां नफीसा से नफरत थी। इसी का बदला उसने अरमान को मारकर ले लिया। इतना ही नहीं आरोपी की नीयत 50 लाख का प्लॉट हड़पने की भी थी।

यह भी पढ़ें: Kargil Vijay Diwas: लांसनायक सतपाल सिंह की वीरगाथा पढ़ करेंगे गर्व, PAK सेना को चटा दी थी धूल

एसपी सिटी ने बताया कि समीर और उसके उसके पिता नौशाद से पूछताछ में सामने आया कि अरमान के पिता मोबीन की 6 वर्ष पूर्व बीमारी से मौत हो गई थी। जिसके बाद 5 बच्चों का पिता 55 वर्षीय नौशाद नफीसा को लेकर चला गया था। करीब छह माह वे लौटे। मोबीन ने मरने से पहले अरमान के नाम 50 लाख कीमत का 200 गज का प्लॉट किया था। वसीयत में वह प्लॉट अरमान को बालिग होने पर मिलना था।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned