बड़ा खुलासा: देवकी नंदन ठाकुर इस वजह से छोड़ रहे हैं देश, यूएसए के इस शहर में डालेंगे डेरा

बड़ा खुलासा: देवकी नंदन ठाकुर इस वजह से छोड़ रहे हैं देश, यूएसए के इस शहर में डालेंगे डेरा

sharad asthana | Publish: Sep, 12 2018 11:45:20 AM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर की गिरफ्तारी के बाद उबले सवर्ण समाज के लोग

मेरठ। आगरा में कथा वाचक देवकी नंदन ठाकुर की गिरफ्तारी के विरोध में मेरठ में आवाज उठने लगी हैं। एससी-एसटी एक्ट संशोधन के विरोध में आंदोलन चला रही सर्वसमाज संघर्ष समिति ने देवकी नंदन ठाकुर की गिरफ्तारी पर रोष प्रकट किया है। उधर, मेरठ में सर्वसमाज के अभिषेक गहलौत ने कहा कि भाजपा सरकार में ही संतों का अपमान हो रहा है। वह भी ऐसे समय जबकि साधु यानी योगी आदित्यनाथ का राज हो। उनके राज में ही संतों का अपमान हो। यह कहां का न्याय है। वहीं, गिरफ्तारी के बाद कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर यूएसए जा रहे हैं। विश्‍व शांति चैरिटेबल ट्रस्‍ट की साइट के अनुसार, देवकी नंदन ठाकुर का 14 से 20 सितंबर तक यूएसएस के न्‍यू जर्सी में कार्यक्रम है। उनका वहां पर न्‍यू जर्सी के दुर्गा मंदिर में श्रीमद् भागवत कथा का कार्यक्रम है।

यह भी पढ़ें: देवकीनंदन ठाकुर की गिरफ्तारी को लेकर कुमार विश्वास का भाजपा सरकार पर बड़ा हमला, जानिए क्या कहा

आगरा में गिरफ्तार किया गया था देवकी नंदन ठाकुर को

बताते चलें कि मंगलवार को आगरा में कथावाचक देवकी नंदन ठाकुर को उस समय गिरफ्तार किया गया था, जब वह एससी-एसटी एक्ट के विरोध में सर्वसमाज संघर्ष समिति के आयोजन में भाग लेने जा रहे थे। उनको उनके 15 समर्थकों समेत गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि, गिरफ्तारी के दो घंटे बाद उनको जमानत पर रिहा कर दिया गया था, लेकिन उनकी गिरफ्तारी से सर्वसमाज और सवर्ण समाज में रोष है। लोगों ने उनकी गिरफ्तारी होने पर भाजपा सरकार की अलोचना की है। मेरठ में आयोजित होने वाली सर्वसमाज की बैठक में इसकी निंदा की गई और निर्णय लिया गया कि इसका पुरजोर तरीके से विरोध किया जाएगा। इसके खिलाफ सर्वसमाज को एकजुट कर एक बड़ी महापंचायत की जाएगी।

यह भी पढ़ें: Big Breaking: SC ST Act पर ताल ठोंकने वाले देवकी नंदन ठाकुर गिरफ्तारी के बाद छोड़ रहे देश, जा रहे यूएसए

पीएम मोदी और सीएम योगी को भेजेंगे पत्र

बैठक में कहा गया कि भाजपा सरकार कोर्ट के निर्णय का पालन नहीं कर रही है। उसने निर्णय के खिलाफ संसद में विधेयक पारित किया है। जबकि भाजपा भली-भांति जानती है कि सवर्ण समाज के वोटों पर ही जीतकर वो सत्ता के शीर्ष पर पहुंची है। सवर्ण समाज ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजने का निर्णय लिया है। इसमें सर्वसम्मति से लिखा गया है कि सरकार और भाजपा इस संबंध में जो भी निर्णय ले वे देश और समाज के हित में ले। इससे समाज में विघटन न पैदा हो सके। आज इस मुद्दे पर हिंदू समाज दो भागों में विभक्त हो चुका है। इसका नुकसान निश्चित ही भाजपा को उठाना पड़ेगा। इसीलिए भाजपा सरकार बिना सोचे-समझे यह फैसला ले रही है। जो कि गलत है।

यह भी पढ़ें: देवकी नंदन ठाकुर की गिरफ्तारी के बाद कठेरिया ने SC ST Act को लेकर कही बड़ी बात

Ad Block is Banned