अंतर्राष्ट्रीय पहलवान शिकायत के साथ पहुंची डीएम आफिस और मेडल वापस लेने का किया अनुरोध

Highlights

  • गांव में अवैध कब्जे की शिकायत के बावजूद नहीं हुई कार्रवाई
  • मकान के रास्ते पर अवैध कब्जा हटवाने की मांग के लिए पहुंची
  • अपर नगर मजिस्ट्रेट ने दिया पहलवान को दिया कार्रवाई का भरोसा

 

मेरठ। गांव में मकान के रास्ते पर अवैध कब्जे की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं होने से क्षुब्ध अंतर्राष्ट्रीय पहलवान इंदु तोमर (International Wrestler Indu Tomar) अपने परिजनों के साथ मंगलवार को डीएम आफिस (DM Office) पहुंची और अपने साथा लायी मेडलों (Medals) और सर्टिफिकेट्स (Certificates) वापस लेने का अनुरोध किया। इस अंतर्राष्ट्रीय पहलवान का आरोप है कि अवैध कब्जे की कई बार शिकायत किए जाने के बावजूद अफसरों ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसलिए वह अपने मेडल वापस करना चाहती है।

यह भी पढ़ेंः विश्वविद्यालय के छात्रों ने कुलपति के नियम को बताया 'काला कानून' और कर दिया घेराव, देखें वीडियो

अपने पिता जय सिंह तोमर व अन्य लोगों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंची अंतरराष्ट्रीय पहलवान इंदु तोमर मुंडाली क्षेत्र के गांव मऊ खास की निवासी है। अपनी कुश्ती के दम पर इंदु ने राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कई मेडल हािसल किए है। करीब दो महीने से इंदु का परिवार गांव में मकान के रास्ते पर कब्जे से परेशान है। इंदु व उनका परिवार इस मामले की शिकायत पुलिस और प्रशासनिक अफसरों से कर चुका है, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

यह भी पढ़ेंः हाइवे पर टोल वसूली को लेकर ट्रांसपोर्टरों का फूटा गुस्सा, जमकर हुआ हंगामा, देखें वीडियो

इससे क्षुब्ध मंगलवार को इंदु अपने मेडल लेकर कलेक्ट्रेट पहुंची। डीएम अनिल ढींगरा की अनुपस्थिति में अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम सुनीता सिंह से मिली और देश-विदेश में जीते अपने मेडल वापस लेने का अनुरोध किया। अपर नगर मजिस्ट्रेट प्रथम ने इंदु तोमर को कार्रवाई का भरोसा दिलाकर वापस भेजा।

sanjay sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned