कोरोना का एक बार फिर बढ़ा प्रकोप, इन जिलों में सख्त होंगे नियम

Highlights:

-स्वास्थ्य विभाग का तीसरी वेव की ओर इशारा

-मंडल में फिर से बेकाबू होने लगा कोरोना

-त्योहारों पर सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड से बचाव का नहीं हुआ पालन

By: Rahul Chauhan

Published: 17 Nov 2020, 04:25 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। पिछले कुछ दिनों से मेरठ मंडल के जिलों में प्रतिदिन कोरोना वायरस के नए मामलों की संख्या में जबरदस्त उछाल आया है। जिसके दृष्टिगत जनपद मेरठ सहित मंडल के सभी जिलों में विशेष सतर्कता बरते जाने हेतु मंडलायुक्त, मेरठ कमिश्नर अनीता सी मेश्राम द्वारा निर्देश दिए है। दरअसल, कमिश्नर अनीता सी मेश्राम द्वारा मंडल के सभी जिलाधिकारियों और मुख्य चिकित्साधिकारियों को पत्र भेजकर सभी जिलों में कोविड टेस्टिंग में तेज़ी लाने और सर्विलांस की कार्यवाही पूरी गंभीरता से करने के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें: बिजनौर में पति ने मारा थप्पड़, इलाज के दौरान पत्नी की मौत

पत्र में यह भी आशंका व्यक्त की गई है कि वर्तमान समय में ठंड के मौसम और वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर से कोविड संक्रमण में बढ़ोतरी हो सकती है, जिसको देखते हुए आगामी कुछ सप्ताह बहुत चुनौतीपूर्ण है।
दीपावली सहित विभिन्न त्योहारों के दौरान जनसामान्य के आवागमन, बाजारों में भीड़भाड़ और लोगो द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग व कोविड से बचाव के अन्य नियमों का सही प्रकार पालन ना करने से भी संक्रमण की चेन बढ़ने की संभावना है। अत: स्थिति की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए शासन के निर्देशों का कड़ाई से पालन कराए जाने की अपेक्षा आयुक्त द्वारा की गई है ।

किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए

यह भी पढ़ें: दिवाली पर फारयिंग का वीडियो हुआ वायरल तो बोले पूर्व विधायक, कार्रवाई हुई तो करेंगे आंदोलन

अपने पत्र में कमिश्नर अनीता सी मेश्राम के द्वारा यह भी निर्देश दिए गए हैं कि किसी प्रकार की लापरवाही किसी स्तर पर न बरती जाए और जो मरीज वर्तमान में भर्ती हैं उनको बेहतर से बेहतर इलाज मुहैया कराया जाए। जिन मरीजों को होम आइसोलेशन की सुविधा प्रदान की गई है उन पर भी निरंतर निगरानी रखी जाए। सीएमओ डा0 राजकुमार ने बताया कि पॉजिटिव केसों की बढ़ती संख्या दिल्ली में तीसरी वेव की ओर इशारा कर रही है। आने वाली सर्दियों में वायु प्रदूषण बढ़ने के बाद स्थिति और बिगड़ सकती है। खासकर जो लोग अस्थमा या सांस की बीमारियों से पीड़ित हैं, उनके लिए दिक्कतें हो सकती हैं। दिल्ली से पश्चिमी यूपी के जिलों में बड़ी संख्या में लोगों का आना जाना लगा रहता है। ऐसे में कांटेक्ट ट्रैसिंग, सर्विलांस और सैंपलिंग तेज करने के निर्देश दिये गए हैं, ताकि यूपी में संक्रमण के सेकेंड वेव का पता लगाया जा सके।

coronavirus
Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned