Corona को लेकर एम्स डायरेक्टर ने कही बड़ी बात, बताया इस बार किस वर्ग को ज्यादा प्रभावित कर रहा वायरस

एम्स डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कोरोना के बढ़ते नए मामलों को लेकर कही बड़ी बात, इस बात को लेकर किया अलर्ट

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) का खतरा देशभर में लगातार बढ़ रहा है। कई राज्यों में हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। सरकार भी इस खतरे से निपटने के लिए कई कड़े उठाने शुरू कर चुकी है। महाराष्ट्र से लेकर राजधानी दिल्ली तक कोरोना के नए मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है। इस बीच दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ( AIIMS ) के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ( Randeep Guleria ) ने कोरोना को लेकर बड़ी बात कही है।

उन्होंने कहा है कि राजधानी में कोरोना की नई लहर मुख्य रूप से युवाओं को चपेट में ले रही है। यही नहीं उन्होंने अलर्ट भी कयिा है कि जल्द ही लोगों ने अपनी जिम्मेदारी नहीं समझी तो ये बुजुर्गों को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर देगा।

यह भी पढ़ेँः कोरोना संकट के बीच इस शहर में नया नियम, अब बाजार जाने पर प्रशासन को देना होंगे पैसे

एम्स डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया के मुताबिक कोरोना वायरस युवाओं को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। अभी दिल्ली के कोरोना पीड़ित ज्यादातर युवाओं में कोविड-19 महामारी के सामान्य लक्षण दिखाई पड़ रहे हैं, लेकिन इसका दायरा बढ़ा तो गंभीर लक्षणों के साथ बुजुर्गों को संक्रमण हो सकता है।

तो ज्यादा खराब होंगे दिल्ली के हालात
यानी समय रहते सतर्क नहीं हुए तो खतरा बुजुर्गों तक पहुंच सकता है और तब दिल्ली की हालत ज्यादा खराब हो जाएगी।

लॉकडाउन को लेकर कही ये बात
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एम्स डायरेक्टर ने फिर से लॉकडाउन लगाने को लेकर भी अपनी राय दी है। उन्होंने कहा कि बजाय लॉकडाउन लगाने के हमें छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनाना चाहिए, जो कोरोना संक्रमण के खिलाफ ज्यादातर कारगर साबित हो सकते हैं।

गुलेरिया की मानें तो महाराष्ट्र में भी कोरोना ऐसे ही पहले युवाओं में फिर बुजुर्गों में फैलने लगा। दिल्ली में भी यही हालात बन सकते हैं।

ऐसे में हमें सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा, फिलहाल दिल्ली में ऐसी स्थिति नहीं है। यहां भर्ती होने वाले मरीजों की तादाद तो बढ़ रही है, लेकिन यहां बेड की कमी नहीं है।

अगर इसी तरह मामले बढ़ते रहे तब ज्यादा से ज्यादा मरीजों को भर्ती करना पड़ेगा, तब स्थिति चिंताजनक हो सकती है।

कुछ दिन में बढ़ेंगे संक्रमण के मामले
गुलेरिया के मुताबिक कोरोना की एक और लहर आ गई है, लेकिन यह हमारे हाथ में है कि यह कितना बड़ा होगा या कितनी जल्दी यह खत्म हो जाएगा।

कुछ दिनों में संक्रमण के मामले और बढ़ेंगे क्योंकि पड़ोसी राज्यों में बहुत ज्यादा केस आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्रीटमेंट में तेजी लाकर और छोटे-छोटे कंटेनमेंट जोन बनाकर संक्रमण की दर को रोका जा सकता है।

रोजाना 1500 से ज्यादा केस
आपको बता दें कि राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस का खतरा बढ़ रहा है। पिछले कुछ दिनों से लगातार रोजाना 1500 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं।

वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार शाम को ट्वीट कर कहा कि उनकी सरकार अस्पतालों की स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

उन्होंने लिखा- दिल्ली में कोविड के बिगड़ते हालात के मद्देनजर कुछ अस्पतालों में आरक्षित आईसीयू बेडों की संख्या बढ़ाई जा रही है। इससे उपलब्ध बेडों की स्थिति सुधरेगी।

यह भी पढ़ेँः Weather Update: मार्च में ही झुलसा देने वाली गर्मी ने किया परेशान, इन राज्यों में 40 के पार हुआ पारा

इसके साथ ही सीएम केजरीवाल ने लोगों से सतर्क रहने के साथ ही एहतियात बरतने की अपील भी की है।

Coronavirus in india
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned