गोवा में 18 साल से ज्यादा उम्र वालों को दी जाएगी 'आइवरमेक्टिन दवा', मंत्री का दावा- कम होगी मृत्यु दर

गोवा में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को कोरोना से बचाव के लिए आईवरमेक्टिन दवा दी जाएगी। गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इससे मृत्यु दर में कमी आएगी।

नई दिल्ली। पूरा देश महामारी कोरोना वायरस की लहर से की चपेट में हैं। बेकाबू कोरोना वायरस को रोकने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें अपने स्तर पर हर संभव प्रयास कर रही है। एक मई से देशभर में वैक्सीन का तीसरा चरण शुरू हो गया है। तीसरे चरण के दौरान 18 साल से लेकर 44 साल की उम्र के बीच सभी लोगों को टीका लगाया जा रहा है। हालांकि कई राज्यों में वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने के कारण देर से टीकाकरण शुरू किया गया। इसी बीच खबर आ रही है कि गोवा में 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को कोरोना से बचाव के लिए आईवरमेक्टिन दवा दी जाएगी। गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि इससे मृत्यु दर में कमी आएगी। आईवरमेक्टिन दवा गर्भवती महिलाओं और 18 वर्ष से कम उम्र के युवाओं को नहीं दी जाएगी।

 

यह भी पढ़ें :— दिल्ली में अस्पताल के 80 कर्मचारी कोरोना संक्रमित, वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद भी डॉक्टर की मौत

रिकवरी, वायरस खत्म होने और मृत्यु दर में होगी कमी
हेल्थ मिनिस्टर विश्वजीत राणे ने बताया कि सभी लोगों को पांच दिनों के लिए 12एमजी की आइवरमेक्टिन दवा देने जा रहे है। उन्होंने कहा कि इटली, यूके, जापान और स्पेन के एक्सपर्ट पैनल ने दावा किया है कि इस दवा से कोरोना मरीजों में जल्द रिकवरी, वायरल खत्म होने और मृत्यु दर में कमी पाई है। बीमारी को रोकने के लिए की गई कार्रवाई को तुरंत कार्यान्वयन के निर्देश दिए गए है। उन्होंने कहा कि यह दवा कोरोना वायरस को तो नहीं रोक पाएगी लेकिन यह गंभीरता को कम करने में मददगार साबित होगी। गोवा के मंत्री ने आगे कि आइवरमेक्टिन 12एमजी टैबलेट सभी जिला, उप-जिला, पीएचसी, सीएचसी, उप-स्वास्थ्य केंद्रों, ग्रामीण औषधालयों में लोगों के लिए तुरंत उपचार के लिए उपलब्ध होगी।

यह भी पढ़ें :— Corona Crisis : आंध्र प्रदेश से रोजाना आ रही हैं 600 एंबुलेंस, सीमा पर रोक रही है तेलंगाना पुलिस

2,804 नए कोरोना मरीज, 50 की मौत
रिसर्च में पाया गया है कि आइवरमेक्टिन को लगातार प्रयोग में लेने से कोविड की चपेट में आने का जोखिम बहुत कम हो जाता है। उनका दावा है कि यह दवा महामारी को खत्म करने में काफी हद तक मददगार साबित हो सकती है। कई देशों में इसके बारे में बारीकी से समीक्षा की गई है। हालांकि अभी तक कोरोना वायरस के लिए कोई दवा नहीं बनी है। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, गोवा में सोमवार को 2,804 नए कोरोना संक्रमित के नए मरीज सामने आए है। वहीं, 50 मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,21,650 हो गई है, जबकि अब तक 1,729 लोगों की जान जा चुकी है।

coronavirus
Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned