Coronavirus : आइसोलेशन में भी रहना होगा संभलकर, जानिए क्या है सही तरीका

विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) के मुताबिक कोरोना वायरस ( Coronavirus ) एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए अन्य वायरस के मुकाबले कोरोना वायरस ( COVID-19 ) बेहद ही खतरनाक है। इसके लक्षण साधारण सर्दी जुकाम जैसे ही होते है। यह भी एक कारण की किसी व्यक्ति के संक्रमित होने पर यह परिवार के अन्य सदस्यों को भी हो सकता है। ऐसे में संक्रमित व्यक्ति को अलग कर लेना सबसे बेहतर तरीका है। लेकिन, उसमें भी कई तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए।

नई दिल्ली।
विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO ) के मुताबिक कोरोना वायरस ( Coronavirus ) एक संक्रमित व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए अन्य वायरस के मुकाबले कोरोना वायरस ( COVID-19 ) बेहद ही खतरनाक है। इसके लक्षण साधारण सर्दी जुकाम जैसे ही होते है। यह भी एक कारण की किसी व्यक्ति के संक्रमित होने पर यह परिवार के अन्य सदस्यों को भी हो सकता है। ऐसे में संक्रमित व्यक्ति को अलग कर लेना सबसे बेहतर तरीका है। लेकिन, उसमें भी कई तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए।

क्या है आइसोलेशन का सही तरीका ( Coronavirus Isolation ) ?

20200128170l-696x451.jpg
  • अलग कमरे में रखें
    डॉक्टरों के अनुसार अगर कोई व्यक्ति कोरोना के लक्षण मिले तो उसे आइसोलेशन में रखा जाता है। इसमें संक्रमित मरीज को हवादार कमरे में रहना चाहिए। उस कमरे में मरीज के अलावा किसी की भी आवाजाही नहीं होनी चाहिए। कमरे में ही शौचालय अटैच होना चाहिए।

Coronavirus: जम्मू-कश्मीर में पहली मौत, 65 वर्षीय बुजुर्ग ने दम तोड़ा

coronavirus_patients_02.jpg
  • एक व्यक्ति से ही करें संपर्क
    आइसोलेशन के दौरान बेहद जरूरी हो तो किसी एक व्यक्ति से ही संपर्क करना चाहिए। संपर्क के दौरान उस व्यक्ति से करीब 3 मीटर से ज्यादा दूरी रखना आवश्यक है। कमरे में जाने से पहले उस व्यक्ति को मास्क व सर्जिकल दस्ताने जरूर पहन लेने चाहिए।
  • परिवार को रखें दूर
    इसके अलावा परिवार को अन्य सभी सदस्य बच्चे, बुजुर्ग, गर्भवती महिला कोई भी मरीज के कमरे में बिल्कुल भी ना जाए। आइसोलेशन में रखे गए मरीज की इस्तेमाल की गई चीजों और जगहों को वे बिल्कुल न छुएं। हर सदस्य बार—बार हाथ धोते रहें।

लॉकडाउन: DND पर लगा नया बोर्ड- इधर से सिर्फ डॉक्टर-मीडिया-एम्बुलेंस को जाने की इजाजत है

coronavirus_patients_03.jpg
  • मास्क और कपड़े का करें निस्तारण
    इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति के मास्क और कपड़े को बिल्कुल नहीं छुए। विशेष सावधानी में उन्हें जला दें या जमीन में गहरा दबा दें।
  • कोरोना की जांच करवाएं
    अगर आपको भी खांसी जुकाम महसूस हो तो तुरंत ही चिकित्सकों को जानकारी दें। स्वास्थ्य विभाग की टीम खुद जांच के लिए आपके घर पहुंचेगी। ऐसी स्थिति में आप खुद को परिवार से अलग कर लें।
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned