Coronavirus: महज इतने दिनों में संक्रमण ने पकड़ी रफ्तार, इन तीन राज्यों में जाएगी केंद्र की टीम

देश में Coronavirus के नए मामलों ने दो महीने से भी कम वक्त में पकड़ी डरा देने वाली रफ्तार

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) की दूसरी लहर का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। पिछले कुछ दिनों में कोरोना के बढ़ते मामलों ने राज्य के साथ-साथ केंद्र सरकार की चिंता भी बढ़ा दी है। कई राज्यों में हालात बेकाबू हो रहे हैं। वहीं देश ने कोरोना के बढ़ते मामलों में भी अब तक के सभी रिकॉर्डों को तोड़कर 1 लाख का आंकड़ा पार कर लिया है।

खास बात यह है कि ये आंकड़ा पार करने में कोरोना ने काफी कम दिनों का वक्त लिया। महज 50 दिन में 9 हजार केस बढ़कर 1 लाख के पार पहुंच गए।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की रफ्तार बहुत तेज है। महाराष्ट्र, पंजाब और मध्यप्रदेश समेत राज्यों में स्थिति बेहद भयावह हो गई है। इसके चलते कई तरह की पाबंदियां लगाईं जा रहीं हैं।

यह भी पढ़ेँः देश में Corona ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, एक दिन में नए मामलों का आंकड़ा 1 लाख के पार, पीछे छूटा ब्राजील

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोविड-19 के मामलों में 10 गुना से ज्यादा वृद्धि हुई है।

ऐसे बढ़े आंकड़े
इस साल 16 फरवरी को देश में कोरोना के केस सिर्फ 9,121 आए थे, जिसके बाद यह संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। अप्रैल की शुरुआत में नए मरीजों की संख्या बढ़कर 90 हजार के पार पहुंच चुकी है, जोकि पिछले साल सितंबर के बाद सबसे ज्यादा है।

वहीं अप्रैल के पहला हफ्ता पूरा होने से पहले ही कोरोना ने सभी रिकॉर्डों को तोड़ डाला है। 5 अप्रैल को 1 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। जो देश में एक दिन में संक्रमितों का सबसे बड़ा आंकड़ा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के विश्लेषण से बात भी सामने आई है कि शुक्रवार को दुनिया भर में सबसे अधिक कोरोना केस भारत में मिले।

भारत ने नए मरीजों के मामले में सबसे अधिक प्रभावित अमरीका को भी पीछे छोड़ दिया।
इससे पहले, 16 सितंबर, 2020 को देश में कोरोना संक्रमण के सर्वाधिक 97,894 नए कोरोना मरीज मिले थे, जो देश में एक दिन में मिलने मरीजों की संख्या सबसे अधिक थी।

85 फीसदी से अधिक मौतें 8 राज्यों से
आपको बता दें कि बीते 24 घंटे में हुई कुल 513 मौतों में से 85.19 फीसदी मौतें सिर्फ आठ राज्यों में हुई हैं।

राज्यों में मौत का आंकड़ा
महाराष्ट्र - 277
पंजाब - 4
छत्तीसगढ़ - 36
कर्नाटक - 19
मध्य प्रदेश - 15
तमिलनाडु -14
उप्र - 14
गुजरात - 13 मौतें हुई हैं
वहीं 14 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में कोई मौत दर्ज नहीं की गई है।

इन राज्यों में केंद्र लगाएगा लगाम
देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के खतरे के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हाईलेवल मीटिंग की। इस मीटिंग के बाद देश के तीन राज्यों में बढ़ते मामलों को देखते हुए अब केंद्र की टीम यहां कोरोना को काबू करने के लिए जाएगी।

ये तीन राज्य हैं महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़। इन तीनों राज्यों में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में केंद्र की टीम वायरस के रोकथाम उपायों को बेहतर तरीके से लागू करने को लेकर जरूरी कदम उठाएगी।

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में 57 हजार से ज्यादा कोरोना वायरस के केस, 24 घंटे में 222 की मौत

ये बोले एम्स डायरेक्टर
एम्स डायरेक्टर और सरकार के टास्क फोर्स के टॉप सदस्य डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि म्यूटेंड स्ट्रेन्स मामलों में आने वाले उछाल का एक बड़ा कारण है।

उन्होंने इससे निपटने के कुछ सुझाव भी दिए हैं। इनमें- कंटेनमेंट जोन बनाना, लॉकडाउन, टेस्टिंग. ट्रेसिंग और आइसोलेशन शामिल है।

Coronavirus in india
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned