तमिलनाडु और पुद्दुचेरी के समुद्री तटों से टकराने के बाद इस दिशा में बढ़ा Cyclone Nivar, 13 जिलों में आज रहेगा सार्वजनिक अवकाश

  • Cyclone Nivar ने दक्षिण के कई राज्यों में बरपाया कहर
  • तमिलनाडु और पुद्दुचेरी के समुद्री तटों से टकराने के बाद भी कई इलाकों में जारी बारिश का दौर
  • अब उत्तर पश्चिम इलाकों की निवार ने किया रुख

नई दिल्ली। चक्रवाती तूफान निवार (Cyclone Nivar) ने अपने तेज गति के साथ आधी रात को तमिलनाडु और पुद्दुचेरी के समुद्री तटों पर जोरदार दस्तक दी। तूफान की दस्तक के साथ ही इन इलाकों में तेज बारिश हुई. तेज हवाओं ने जनजीवन को जबरदस्त प्रभावित किया।

चेन्नई, कुड्डलोर, महाबलीपुरम समेत कई शहरों में अब भी बारिश का दौर जारी है। पुदुचेरी में भी तेज हवाओं के साथ भारी बारिश ने लोगों को जीना मुहाल कर दिया। भारतीय मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक गुरुवार भयंकर चक्रवाती तूफान 'निवार उत्तर पश्चिमी की ओर बढ़ेगा हालांकि धीरे-धीरे इसकी रफ्तार में गिरावट दर्ज की जाएगी। यानी गुरुवार को 12 बजे से पहले तूफान निवार कमजोर पड़ जाएगा।

पहाड़ों पर जोरदार बर्फबारी के बीच मैदानी इलाकों में बढ़ी ठंड, इन जिलों को लेकर आईएमडी ने जारी किया अलर्ट

चक्रवाती तूफान निवार का खतरा अब पुदुचेरी से टल चुका है। यहां तूफान निवार का 25 नवंबर की रात 11.30 बजे से लेकर 26 नंवबर को रात 2.30 बजे तक लैंडफॉल हो चुका है। इस तूफान ने तमिलनाडु और पुदुचेरी में काफी नुकसान पहुंचाया है। तेज बारिस और हवाओं के चलते लाखों लोग प्रभावित हुए हैं। कई जगह पेड़ उखड़ गए हैं तो कई जगहों पर बिजली के खंबे गिर गए हैं। ऐसे में कई इलाकों में बिजली की आपूर्ति पर भी सीधा असर पड़ा है।

भीषण चक्रवाती तूफान में हुआ तब्दील
मौसम विभाग के मुताबिक इस तूफान की कैटेगरी अब 'बहुत भीषण चक्रवाती तूफान' से 'भीषण चक्रवाती तूफान' में तब्दील हो चुकी है। वहीं आपको बता दें कि जब देर रात निवार तमिलनाडु और पुद्दुचेरी के समुद्री तटों से टकराया तो इसकी रफ्तार करीब 120 किमी प्रति घंटे की रही।

जल्द कमजोर पड़ेगा तूफान
आईएमडी के मुताबिक यहां से निवार ने अपना रुख उत्तर पश्चिम इलाकों की ओर किया है, लेकिन अब इसकी रफ्तार कम हो गई है और कुछ घंटों में निवार काफी कमजोर पड़ जाएगा। रफ्तार की बात करें तो इसकी रफ्तार 65 किमी तक पहुंच जाएगी।

225 एमएम दर्ज हुई बारिश
आपको बता दें कि इससे पहले निवार तूफान ने बुधवार को दक्षिण के कई इलाकों में दस्तक देने से पहले ही अपना असर दिखाना शुरू कर दिया था। इस दौरान तमिलनाडु के कई जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश ने जमकर कहर बरपाया।

तमिलनाडु के कुड्डलोर में 25 नवंबर को सुबह साढ़े 8 बजे से 26 नवंबर के रात 1.30 बजे तक पुदुचेरी में 225 एमएम और कुड्डलोर में 244 एमएम बारिश दर्ज की गई है।

रातभर हुई कई इलाकों में बारिश
चक्रवात के प्रभाव से चेन्नई और आसपास के क्षेत्रों में रातभर बारिश ने बुरा हाल र दिया। यहां निचले स्थानों पर हुई बारिश के चलते जलजमाव की स्थिति बनी हुई है।

बंगाल में चुनाव से पहले ही बड़ा सियासी बवाल, बीजेपी के नेता की फिसली जुबान तो सीएम ममता ने भी लगाया बड़ा आरोप

13 जिलों में आज सार्वजनिक अवकाश
इस बीच तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने चक्रवात के मद्देनजर लोगों की सुरक्षा के लिये बृहस्पतिवार को चेन्नई, वेल्लोर, कुड्डालोर, विल्लुपुरम, नागापट्टिनम, तिरुवरूर, चेंगलपेट, कांचीपुरम समेत 13 जिलों में सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned