Coronavirus की रोकथाम के लिए Delhi Model की तारीफ, अन्य राज्यों में किया जाएगा लागू

  • केंद्र सरकार ( centre govt ) सोमवार को अन्य राज्यों के साथ बैठक लेगी इस पर फैसला, गृह सचिव ( union home secretary ) करेंगे बैठक।
  • दिल्ली में कोरोना वायरस ( Coronavirus Pandemic ) पर नियंत्रण लगाने के लिए एक साथ कई प्रयास किए गए।
  • कोरोना के प्रबंधन में दिल्ली मॉडल ( Delhi Model of managing Coronavirus ) की सफलता को देखकर लिया गया है निर्णय।

नई दिल्ली। देश के अन्य राज्यों में भी कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए 'दिल्ली मॉडल' ( Delhi Model of managing Coronavirus ) को लागू करने की योजना है। वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार ( centre govt ) सोमवार को इसके लिए एक बैठक करेगी। बैठक की अध्यक्षता केंद्रीय गृह सचिव ( union home secretary ) अजय भल्ला करेंगे।

WHO ने दी सबसे बड़ी खुशखबरी, कोरोना वैक्सीन पहुंच गई अंतिम चरण में

दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "देश के जिन राज्यों में कोरोना वायरस ( Coronavirus Pandemic ) के मामलों में तेजी से उछाल देखने को मिल रहा है, उनमें दिल्ली दिल्ली के सफलता मॉडल को लागू करने के लिए कदम उठाए जा सकते हैं। इसके लिए एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई गई है। इसके अलावा दिल्ली में आने वाले दिनों के लिए COVID-19 रणनीति पर भी चर्चा की जाएगी।"

बैठक के एजेंडा के मुताबिक दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव केंद्र सरकार के शीर्ष अधिकारियों के सामने राजधानी की कोरोना वायरस प्रबंधन रणनीति के प्रमुख कदमों को पेश करेंगे। बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण और नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहेंगे।

फिर दिल्ली, चेन्नई और पूना से आए लोगों ने फैलाया कोरोना , एक महिला और एक बुजुर्ग के साथ पांच पॉजिटिव

जुलाई की शुरुआत में सामने आए हर तीन नए संक्रमणों में से लगभग दो महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु के थे, लेकिन COVID-19 मामलों में अब मौजूदा तेजी आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, गुजरात, कर्नाटक, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल से देखने को मिल रही है।

30 करोड़ डॉलर लगाने के बाद कोरोना वायरस वैक्सीन के इस्तेमाल को लेकर बिग गेट्स का बड़ा खुलासा

इससे पहले बीते 18 जुलाई को एक इंटरव्यू के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( CM Arvind Kejriwal ) ने कहा था कि 'दिल्ली मॉडल' केवल टेस्टिंग, होम आइसोलेशन, पारदर्शी आंकड़े, अस्पताल के बेड और प्लाज्मा थेरेपी से जुड़ा है। उन्होंने कहा था, "लेकिन इन पांच चीजों को हासिल करने के लिए हमने तीन सिद्धांतों का पालन किया। इनमें पहला टीम वर्क, दूसरा रचनात्मक आलोचना को स्वीकार करना और जो गलत है, उसे ठीक करना जबकि तीसरा चाहे कितनी भी बुरी स्थिति क्यों न हो एक सरकार के रूप में इसे छोड़ना नहीं, शामिल है।"

वहीं, दिल्ली सरकार ने शनिवार को एक बयान में कहा, "सीएम केजरीवाल ने हमेशा कहा है कि दिल्ली मॉडल का सार टीम वर्क है। ऐसे गंभीर मोड़ पर यह बहुत महत्वपूर्ण है कि सभी राज्य COVID-19 को हराने के लिए मिलकर काम करें। अगर जिस तरह से दिल्ली सरकार ने मामलों को कम करने में सफलता हासिल की है, उससे अन्य राज्यों में मदद मिल सकती है, तो यह दिल्ली मॉडल के लिए एक सम्मान से कम नहीं होगा।

टिकट पाने वाले विधायकों को लेकर केजरीवाल का चौंकाने वाला खुलासा, देखें वीडियो

गौरतलब है कि शनिवार को जारी दिल्ली के स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार राजधानी में कोरोना वायरस का रिकवरी रेट 87 फीसदी को पार कर गया है। यह भारत के सभी राज्यों से सबसे अच्छा होने के साथ ही राष्ट्रीय औसत 63.5 फीसदी से भी अधिक है।

शनिवार को दिल्ली के एक्टिव केस ( Coronavirus Active Case ) भी कम होकर 12,657 पर पहुंच गए। शनिवार को 1,142 नए मामलों के साथ ही एक्टिव केस की संख्या पिछले सात सप्ताह में सबसे कम थी। शनिवार तक राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के कुल केस का आंकड़ा 129,531 पर पहुंच गया।

Coronavirus Pandemic
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned