Bill Gates ने बताया Coronavirus Vaccine की कितनी खुराक होंगी जरूरी

  • बिल गेट्स ( bill gates ) ने बताया कि कोरोना वायरस वैक्सीन ( Coronavirus vaccine ) की एक से अधिक खुराक ही होगी असरदार।
  • मरीजों के इलाज ( Covid-19 Patients ) और बचाव के लिए कोरोना वैक्सीन के विकास में अभी तक गेट्स ने कुल 30 करोड़ डॉलर का इंवेस्टमेंट किया है।
  • गेट्स ने कहा था कि महामारी ( Coronavirus Pandemic ) से बचाव के लिए वैक्सीन ( covid-19 vaccine ) को हर हिस्से में पहुंचाने की जरूरत और अरबों खुराक की आवश्यकता।

 

सैन फ्रांसिस्को। माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स ( bill gates ) ने कहा है कि लोगों ( Covid-19 Patients ) को कोरोना वायरस से खुद को बचाने के लिए एक से ज्यादा कोरोना वैक्सीन ( Coronavirus vaccine ) लेने की जरूरत पड़ सकती है। गेट्स ने ये भी कहा कि इस वक्त कोई भी ऐसी वैक्सीन नहीं बन पाई है जोकि एक ही खुराक में कारगर साबित हो।

केवल 399 रुपये में बाजार में लॉन्च हो गई दुनिया की सबसे सस्ती कोरोना diagnostic kit, और कम हो सकती है कीमत

आने वाले वक्त में कोरोना वायरस ( Coronavirus Pandemic ) के लगभग 150 से अधिक टीके विकास के कई चरण में हैं, जिनमें से कुछ अब क्लीनिक ट्रायल के अगले चरण की ओर बढ़ रहे हैं। अबतक बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने कोरोना वायरस को हराने के लिए कई कोशिशें कीं, जिनमें उन्होंने अभी तक 30 करोड़ डॉलर का निवेश किया है।

एक ब्लॉग पोस्ट में गेट्स ने पहले कहा था कि महामारी का मुकाबला करने के लिए एक सेफ और असरदार टीके को बनाने की तुरंत जरूरत है। बिल गेट्स की सोच वाकई में सराहनीय है। उन्होंने लिखा था, "हमें अरबों की संख्या में खुराक बनाने की आवश्यकता है, इन्हें दुनिया के हर हिस्से में पहुंचाने की जरूरत है और हमें यह सब जल्द से जल्द करने की भी आवश्यकता है।"

कोरोना वैक्सीन- अब डेढ़ साल में नहीं 5 महीने में आ जाएगी वैक्सीन, अमरीकी कंपनी का दावा

गौरतलब है कि इससे गेट्स ने कहा कि COVID-19 दवाओं और इसके बाद में टीके उन देशों और लोगों को मुहैय्या करवाने चाहिए जो इसके सबसे ज्यादा जरूरतमंद ( help the needy ) है। उन्होंने ये भी कहा कि उन लोगों को ये टीके और दवाएं पहले नहीं मिलनी चाहिए जो कि पैसों के बल पर इन्हें खरीद सकते हैं।

कोरोना वैक्सीन AZD1222 ने दिखाई दुनिया को बड़ी सफलता की राह, जल्द हो सकती है घोषणा

बिल गेट्स ने अंतरराष्ट्रीय एड्स रोग संघ (आईएएस) द्वारा आयोजित COVID-19 से संबंधित एक ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि दवाएं और टीके ( covid-19 vaccine ) सबसे अधिक आवश्यकता वाले लोगों को दिए जाएं ना कि दौलतमंद को। जरूरतमंद को ये टीके और दवाएं ना देकर अगर दौलंतमंदों को ये दे दी गईं तो फिर इस महामारी से निपटना मुश्किल हो जाएगा। इसकी वजह से महामारी और लंबे समय तक जारी रहेगी। इसके साथ ही महामारी के गंभीर परिणाम सभी को भुगतने पड़ सकते हैं।

बिल गेट्स ने कहा था, "हमारे नेताओं को इक्विटी के आधार पर वितरण के बारे में यह कठोर निर्णय लेने की जरूरत है, न कि मार्केट फैक्टर्स पर निर्भर रहना।"

Coronavirus Pandemic
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned