गंगा के पानी से बुझेगी दिल्ली की प्यास, डेढ़ करोड़ गैलन पानी रोज लेगा जल बोर्ड

दिल्ली में पानी का एक बड़ा हिस्सा हरियाणा से आता है, लेकिन दोनों के बीच इस मसले पर विवाद के चलते संकट बढ़ गया है।

By:

Published: 06 Jun 2018, 09:06 AM IST

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के जल संकट से निपटने के लिए अब गंगा जल का सहारा लेने की तैयारी है। भयंकर गर्मी के चलते जलसंकट बढ़ गया है। ऐसे में अब दिल्ली में जल बोर्ड ने गंगा के पानी से प्यास बुझाने की तैयारी शुरू कर दी है। दिल्ली के लिए गंगा के पानी का इस्तेमाल इसी हफ्ते से शुरू होने की उम्मीद है। दिल्ली में पानी का एक बड़ा हिस्सा हरियाणा से आता है, लेकिन दोनों के बीच इस मसले पर विवाद के चलते संकट बढ़ गया है।

डेढ़ करोड़ गैलन हर दिन

दिल्ली जल बोर्ड के वाइस चेयरमैन और आम आदमी पार्टी के विधायक दिनेश मोहनिया के मुताबिक बुधवार-गुरुवार से फिलहाल दिल्ली को गंगा का करीब डेढ़ करोड़ गैलन पानी प्रतिदिन मिलेगा, इसके बाद इसमें इजाफा हो सकता है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक गंगा के पानी का कुछ हिस्सा बर्बाद हो रहा था, अब उसे डायवर्ट कर वजीराबाद ट्रीटमेंट प्लांट में ट्रीट किया जाएगा। इसके बाद दिल्ली को बड़ी राहत मिल सकती है।

आम चुनाव से पहले बड़ी तैयारी में मोदी सरकार, 50 करोड़ नौकरीपेशा लोगों के लिए ला सकती है पेंशन स्कीम

क्यों हुआ जल संकट?

गर्मियों में पानी की खपत ज्यादा हो जाती है और दिल्ली अपनी पानी की जरूरत के लिए दूसरों पर निर्भर है। दूसरी तरफ हरियाणा और दिल्ली के बीच विवाद एक बड़ी समस्या बना हुआ है। हरियाणा की तरफ से दिल्ली को मिलने वाले पानी में करीब साढ़े तीन करोड़ गैलन पानी प्रतिदिन की कटौती हो गई है। इसके चलते दिल्ली के कई इलाकों में पानी की किल्लत हो गई है। इस संबंध में जल बोर्ड हरियाणा सरकार से बातचीत कर रहा है, लेकिन समस्या को हल करने के लिए दिल्ली सरकार ने उत्तर प्रदेश की तरफ रुख किया है।

केंद्र ने मानवाधिकार आयोग से कहा, 'पत्थरबाजों पर दर्ज मुकदमे रद्द होने से गिरेगा सेना का मनोबल'

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned