Hyderabad में भारी बारिश से कई इलाके जलमग्न, राहत कार्य जारी, जानें महानगर का हाल

  • Hyderabad में भारी बारिश से जन जीवन बुरी तरह प्रभावित।
  • बाढ़ और जल भराव से राहत दिलाने के लिए राहत कार्य जारी।
  • मौसम विभाग ( Meteorological Department ) के मुताबिक रविवार को भी भारी बारिश की आशंका।

नई दिल्ली। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद ( Hyderabad ) में इस सप्ताह के शुरुआत से ही जारी भारी बारिश ( Heavy rain ) की वजह से तबाही का आलम है। पिछले 24 घंटे की बात करें तो शनिवार को सुबह से लेकर देर रात तक बारिश होने से लोगों के लिए मुसीबतों से भरा रहा। लगातार बारिश से हैदराबाद के कई इलाकों में जल जमाव ( Waterlogging ) के कारण आवामगन बुरी तरह से प्रभावित और जन जीवन अस्तव्यस्त रहा।

गरज के साथ भारी बारिश का पूर्वानुमान

मौसम विभाग ( Meteorological Department ) की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार को सुबह 8.30 बजे से देर रात तक मल्काजगिरी जिले की सिंगापुर टाउनशिप में 157.3 मिलीमीटर और बांदलागुड़ा में 153 मिमी बारिश हुई। शहर के कई अन्य इलाकों में भी भारी बारिश हुई। मौसम विभाग ने आज भी शहर के कई हिस्सों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है।

Andhra pradesh: हैदराबाद में बारिश का कहर, Himayat Sagar के 13 गेट खोले गए

राहत व बचाव कार्य जारी

जीएचएमसी के निगरानी एवं आपदा प्रबंधन निदेशक विश्वजीत कामपति ने ट्विट कर बताया है कि ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम ( Greater Hyderabad Municipal Corporation) के बचाव दल कर्मी लगातार जलभराव और बाढ़ से लोगों को राहत दिलाने ( Relief work ) के काम में जुटे हैं। प्रशासन का ध्यान हर हाल में लोगों को सुरक्षित रखने पर है।

50 की मौत

बता दें कि तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद सहित कई जिलों में पिछले कई दिनों से बड़े पैमाने पर बारिश से जन जीवन पूरी तरह से अस्तव्यस्त हो गया है। तेज बारिश की वजह से अभी तक 50 लोगों की मौत हो चुकी है। कई इलाके जलमग्न हो गए हैं। भारी बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में राहत और बचाव कर्मी दिन रात लगों को राहत पहुंचाने के काम में लगे हैं।

Weather Forecast: मुंबई समेत इन इलाकों में बरपेगा 'आसमानी कहर', गरज के साथ बारिश की संभावना

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned