घाटी को दहलाने की आतंकी साजिश नाकाम, नौगाम में रेलवे क्रासिंग के पास बरामद किया आईईडी

  • कश्मीर को दहलाने की आतंकी साजिश नाकाम
  • नौगाम के रेलवे क्रॉसिंग के पास बरामद आईईडी
  • लंबे समय बाद घाटी में दोबारा शुरू होने वाली है रेल सेवा

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) में दहशत फैलाने के लिए सीमा पार से लगातार आतंकी साजिश रच रहे हैं। कभी सुरंग के रास्ते घुसपैठ तो कभी गोलाबारी तो भी बम धमाकों से शांति भंग करने के नापाक प्रयास किए जा रहे हैं। हालांकि भारतीय सेना और सुरक्षाबल के जवान लगातार इन आतंकी साजिशों को नाकाम कर रहे हैं। इसी कड़ी में कश्मीर के नौगाम में भी सेना के जवानों को बड़ी कामयाबी मिली है।

नौगाम में रेलवे क्रॉसिंग के पास आईईडी ( IED ) बरामद हुई है। इसकी सूचना मिलते ही राष्ट्रीय राजमार्ग पर यातायात को रोक दिया गया है। साथ ही भारी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है।

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, इस राज्य में गिरी सरकार

मिली जानकारी के मुताबिक श्रीनगर के पंथा चौक-नौगाम मार्ग पर सोमवार को विस्फोटक मिलने के बाद यातायात रोक दिया गया है। यह विस्फोटक ठीक उस समय पाया गया है जब ट्रेन सेवाओं को लंबे समय के बाद कश्मीर में शुरू किया जाना है।

आईईडी को निष्क्रिय करने के लिए निरोधक दस्ते की मदद ली जा रही है।

अधिकारी के मुताबिक सीआरपीएफ की आरओपी (रोड ओपनिंग पार्टी) और पुलिस ने नौगाम रेलवे स्टेशन से मुश्किल से सौ मीटर की दूरी पर एक संदिग्ध वस्तु देखी।

इसकी जांच के लिए दस्ते को बुलाया गया। उन्होंने बताया कि लोगों और यात्रियों की सुरक्षा के लिए पंथा चौक-नौगाम सड़क मार्ग पर यातायात रोक दिया गया है।

हाल में कश्मीर जोन के आईजी ने आतंकियों की बारूदी साजिश के बारे में जानकारी दी थी। आईजी ने बताया कि आतंकियों ने रणनीति बदल दी है।

अब आईईडी का अधिक उपयोग करना शुरू कर दिया है। इस बदली हुई रणनीति से निपटने के लिए पुलिस तैयार है।

चुनाव से ठीक पहले संकट में ममता बनर्जी का परिवार, अब इस सदस्य पर भी कसा सीबीआई का शिकंजा

इससे पहले 19 फरवरी को भी शोपियां इलाके में सुरक्षाबल के जवानों ने बड़ी आतंकी साजिश को नाकाम किया था। शोपियां इलाके में सुरक्षाबल के जवानों ने भारी मात्रा में गोला बारूद और हथियार बरामद किए थे। सुरंग के रास्ते इन हथियारों को सीमा पार पाकिस्तान से लाया गया था।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned