शिक्षा मंत्री सिसोदिया का बयान, भारतीय प्रतिभाओं को राष्ट्र निर्माण में भागीदार बनाना होगा

Highlights

  • कहा, भारत से 'ब्रेन-ड्रेन'अधिक हो रहा है।
  • उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हम अपनी शिक्षा पद्धति पर मजबूती से काम करें।

नई दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया मंगलवार को कहा कि आज भारत से 'ब्रेन-ड्रेन'अधिक हो रहा है। हम भारत की प्रतिभाओं को विदेशी कंपनियों को दान दे रहे हैं। अमरीका और यूरोप के देश विकासशील देशों की प्रतिभाओं को ढूंढकर अपने देशों में ले जाते है। इसे समझने की आवश्यकता है। हमें ये समझना होगा कि हमारे देश के विद्यार्थी उन देशों की ओर क्यों आकर्षित हो रहे हैं?

केंद्रीय मंत्री अठावले ने राहुल गांधी को शादी कर लेने की दी सलाह, कहा-दलित लड़की चुनें

हमारे विश्वविद्यालय विद्यार्थियों की प्रतिभाओं को निखारने में तो कामयाब हो रहे है, पर राष्ट्र निर्माण में उन प्रतिभाओं को शामिल करने में विफल रहे हैं। इन प्रतिभाओं को राष्ट्र निर्माण में भागीदार बनाना होगा।

उप-मुख्यमंत्री के अनुसार आज भारतीय जनमानस का औसत सपना उच्च शिक्षा के लिए अपने बच्चों को हार्वर्ड,ऑक्सफ़ोर्ड जैसे विश्वविद्यालयों में भेजने का है। मगर आज हमें यह प्रण लेना होगा कि हम अपनी शिक्षा पद्धति पर मजबूती से काम करें ताकि भविष्य में अमरीका, जापान, ब्रिटेन जैसे देश के अभिभावक अपने बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त कराने के लिए भारत के किसी शहर में भेजने का सपना देखें। हम दुनिया के लोगों को यह सोचने के लिए मजबूर कर सकते हैं। जिस दिन ऐसा होगा, एक राष्ट्र के रूप में हम सफल हो जाएंगे।

manish sisodia
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned