कार्टोसैट-3 के साथ 13 अमरीकी सैटैलाइट लॉन्च करेगा ISRO, देश की सीमाओं पर रहेगी पैनी नजर

  • ISRO कर रहा 3 अर्थ ऑब्जर्वेशन या सर्विलांस सैटलाइट लॉन्च करने की तैयारी
  • पहली सैटेलाइट 25 नवंबर को लॉन्च करेगा जबकि शेष 2 दिसंबर में लॉन्च की जाएंगी

नई दिल्ली। मिशन चंद्रयान-2 के बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) अब तीन अर्थ ऑब्जर्वेशन या सर्विलांस सैटलाइट लॉन्च करने की तैयारी कर रहा है।

जानकारी के अनुसार इसरो अपनी पहली सैटेलाइट 25 नवंबर को लॉन्च करेगा जबकि शेष 2 दिसंबर में लॉन्च की जाएंगी।

ये सैटलाइट देश की सीमाओं के लिए काफी अहम मानी जा रही हैं। ये सैटलाइट अंतरिक्ष से देश की सीमाओं पर पैनी नजर रखेंगी।

महाराष्ट्र सरकार गठन का फॉर्मूला तय? शिवसेना का होगा सीएम, स्पीकर के लिए यह नाम आगे

इसरो के अनुसार 3 प्राथमिक उपग्रहों के अलावा, 3 PSLV रॉकेट 24 से अधिक विदेशी और नैनो और माइक्रो सैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में लेकर जाएंगे। PSLV सी-47 रॉकेट की लॉन्चिंग आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोर्ट स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से 25 नवंबर को की जाएगी।

महाराष्ट्र: भाजपा को शिवसेना की फटकार— NDA से निकालने वाले तुम कौन?

यह रॉकेट अपने साथ थर्ड कजनरेशन अर्थ इमेजिंग सैटेलाइट कार्टोसैट और अमरीका के 13 कमर्शियल नैनोसैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में लेकर जाएगा।

 

 

d333.png

आपको बता दें कि भारतीय स्पेस एजेंसी ने इससे पहले 22 मई को सर्विलांस सैटेलाइट रीसैट-2बी और एक अप्रैल को एमिसैट (इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सैटेलाइट) को लॉन्च किया था।

सियाचिन में हिमस्खलन पर बोले राजनाथ— शहीदों के साहस और राष्ट्र सेवा को सलाम

एमिसैट की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह डीआरडीओ की दुश्मनों के रडार पर नजर रखने में सहायता करता है।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned