कैबिनेट बैठक में CM Pinarayi Vijayan की घोषणा, Kerala में लागू नहीं होगा Lockdown

  • केरल ( lockdown in kerala ) में पहली बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कैबिनेट बैठक का आयोजन कर लॉकडाउन ( coronavirus lockdown ) पर चर्चा।
  • मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ( Kerala CM Pinarayi Vijayan ) ने बताया कि कई बैठकों में हुई आम राय पर सहमति।
  • पूरे प्रदेश में कड़े प्रतिबंधात्मक उपायों को लागू करने के साथ कोरोना ( coronavirus cases ) पर लगाम की तैयारी।

तिरुवनंतपुरम। केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम में सोमवार को एक विशेष कैबिनेट की बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान विपक्षी दलों सहित विभिन्न स्तरों पर बैठकों के दौरान आम राय को ध्यान में रखते हुए केरल में राज्यव्यापी टोटल लॉकडाउन ( coronavirus lockdown ) लागू नहीं करने का निर्णय लिया गया। इसके बाद केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ( Kerala CM Pinarayi Vijayan ) ने घोषणा की कि प्रदेश में लॉकडाउन लागू नहीं किया जाएगा।

देश में रोजाना बढ़ते कोरोना मामलों के बीच आई अच्छी खबर, कम हो जाएगा जानलेवा वायरस का डर

केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने कहा, "राजनीतिक दलों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों के साथ राज्य में कोरोना वायरस के हालात के बारे में विभिन्न चर्चाएं की गईं। इस दौरान एक आम राय सामने आई कि अब पूर्ण राज्यव्यापी लॉकडाउन ( lockdown in kerala ) लागू नहीं किया जाना चाहिए, लेकिन क्लस्टर्स में कड़े प्रतिबंधात्मक उपाय लागू किए जाने चाहिए। इसके आधार पर सरकार ने राज्य में कंपलीट लॉकडाउन नहीं करने का फैसला किया है।"

पहली बार वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित कैबिनेट बैठक में राज्य में टोटल लॉकडाउन ( Demand for complete lockdown ) लागू किए जाने के बजाय संबंधित कंटेनमेंट जोन में कोरोना वायरस को काबू में लाने के लिए कड़े उपायों को लागू करने का निर्णय लिया गया।

सीएम ने कहा कि सात बड़े सामुदायिक समूहों के साथ राज्य की राजधानी में COVID-19 की स्थिति गंभीर बनी हुई है। मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली एक समिति को एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है कि क्या मौजूदा लॉकडाउन में कोई छूट दी जानी चाहिए।

इससे पहले पिछले सप्ताह आयोजित सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी सहित अन्य राजनीतिक दलों ने पूरे राज्य में एक कंपलीट लॉकडाउन को लागू करने का विरोध किया था।

100 साल से ज्यादा उम्र के तीन हिंदुस्तानियों ने दी कोरोना को मात, पेश की मजबूत इच्छाशक्ति की मिसाल

मुख्यमंत्री विजयन ( Pinarayi Vijayan latest news ) ने कहा कि मंत्रिमंडल ने वित्त विधेयक के पारित होने को 2020-21 तक बढ़ाने के लिए राज्यपाल को एक अध्यादेश लाने की सिफारिश करने का भी निर्णय लिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने 27 जुलाई को COVID-19 मामलों में वृद्धि के कारण विधानसभा को रद्द कर दिया था।

गौरतलब है कि सोमवार को केरल में 702 नए कोरोना वायरस ( coronavirus cases ) के मामले सामने आने के साथ ही दो लोगों की मौत हुई है। राज्य में कोरोना वायरस के कुल मामलों की संख्या अब 19 हजार 727 हो गई है। केरल में फिलहाल 495 COVID-19 हॉटस्पॉट हैं। जबकि 9664 एक्टिव केस हैं और 9300 लोग इस महामारी से रिकवर हो चुके हैं। जबकि 61 लोग इस वायरस से दम तोड़ चुके हैं।

coronavirus cases
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned