Liquor हुई सस्ती: घटाई गई 'Special Covid Fees', सामने आई ये वजह

  • Coronavirus संकट के बीच Liquor Price हुए कम
  • Odisha Govt ने घटाई Special Covid Fees, MRP पर अब 50 फीसदी की जगह 15 फीसदी ही लगेगा चार्ज
  • Corona Lockdown के दौरान बढ़ाए गए थे शराब के दाम

नई दिल्ली। देशभर में बढ़ रहे कोरोना वायरस ( Coronavirus ) के खतरे के बीच सरकार की ओर से लागू लॉकडाउन ( Lockdown ) में शराब पीने वालों के लिए मुश्किलें बढ़ गई थीं। इस बीच जैसे ही सरकार ने शराब ( Liquor Shops ) की दुकानें खोलीं तो उन पर भीड़ टूट पड़ी। इसके बाद कई राज्य सरकारों ने शराब के दामों में 50 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर दी थी। लेकिन अब जो खबर आ रही है वो शराब पीने वालों को कुछ राहत दे सकती है।

दरअसल अब शराब सस्ती ( Liquor rate down) हो गई है। लेकिन शराब की कीमतों को कम करने का फैसला फिलहाल ओडिशा सरकार ने ही लिया है। ओडिशा सरकार ने 'स्पेशल कोविड फी' को 50 फीसदी से हटा दिया है।

गैंगस्टर विकास दुबे का एनकाउंटर मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, वकील ने किया बड़ा खुलासा, सामने आया एक और बड़ा सच

wine.jpg

सुशांत सिंह राजपूत मामले में आया नया मोड़, बीजेपी के दिग्गज सांसद ने उठाया अब तक का बड़ा कदम

50 फीसदी लगाया था सेस

ओडिशा सरकार ने प्रदेश में हाल में शराब पर कोरोना टैक्स के नाम से 50 फीसदी सेस लगाया था। इसके बाद ओडिशा के शराब कारोबारियों ने राज्य सरकार से अनुरोध किया था कि वो 'स्पेशल कोविड फी' को 50 फीसदी से कम कर तार्किक स्तर पर लाए।

नवीन सरकार ने मानी कारोबारियों की बात

नवीन सरकार ने करोबारियों की बात को माना और शराब की एमआरपी पर 'स्पेशल कोविड फीस' की 50 फीसदी की राशि को घटाकर अब 15 फीसदी कर दिया है।

ओडिशा सरकार के एक्साइज विभाग के मुताबिक शराब की कीमतों पर लगने वाली स्पेशल कोविड फीसदी में 35 फीसदी की कटौती की गई है। अब एमआरपी पर सिर्फ 15 फीसदी फीस ही ली जाएगी।

सरकार ने बताई ये वजह
शराब की अन्य राज्य में कीमत को देखते हुए यह फैसला किया गया है कि पड़ोसी राज्यों की तुलना में ओडिशा में शराब की कीमत का अंतर कम हो, इसलिए सरकार ने शराब की एमआरपी को रिवाइज करने का फैसला किया है।

कोविड फीस से कमाए थे 200 करोड़
ओडिशा सरकार ने स्पेशल कोविड फीस के जरिए पिछले दिनों 200 करोड़ रुपए की कमाई की। एक्साइज विभाग के मुताबिक पड़ोसी राज्यों की तुलना में ओडिशा में शराब की कीमत अधिक होने की वजह से शराब के अवैध कारोबार को बढ़ावा मिलता है।

इस वजह से सरकार ने सीमावर्ती राज्यों की तुलना में उड़ीसा में भी शराब की कीमत को तर्कसंगत बनाने का फैसला किया है।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned