NCP नेता का आरोप, विदेश मंत्री एस जयशंकर के बेटे के संगठन ने China से लिया करोड़ों का दान

  • India China Tension के बीच Uddhav Govt के मंत्री Jitendra Awhad का बड़ा आरोप
  • Union FM S Jaishankar के बेटे के संगठन ने China से लिया डोनेशन
  • NCP Leader ने कहा एक तरफ Boycott Chinese Product की बात, दूसरी तरफ दान

नई दिल्ली। भारत-चीन ( India China Tension ) के बीच गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प ( Galvan Valley Violence )के बाद अब चीनी उत्पादों के बहिष्कार ( Boycott Chinese product ) को लेकर देशभर में अभियान चल रहा है। खास बात यह है कि इस मामले में भी राजनीति गर्मा गई है। ताजा मामला में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ( NCP ) ने भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) पर बड़ा आरोप लगाया है। दरअसल एनसीपी नेता और उद्धव सरकार में मंत्री जितेंद्र आह्वाड़ ( Jitendra Awhad ) ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ( S jai shankar ) के बेटे के संगठन ने चीन से डोनेशन लिया है।

दरअसल अब तक एनसीपी चीन के मुद्दे पर किसी भी तरह की राजनीति ना करने की बात कहती आ रही है। खुद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ( NCP Chief Sharad pawar ) ने इसको लेकर हाल में एक बयान भी दिया था। लेकिन उन्हीं के पार्टी के कद्दावर नेता ने अब इसी मुद्दे पर बीजेपी को आड़े हाथों लिया है।

दवा नहीं अब मिठाई से खत्म होगा कोरोना, सरकार ने बाजार में संदेश को उतारने का दिया आदेश

मानसून ने कई सालों बाद बदली अपनी चाल, देश के इन राज्यों में इस बार भारी बारिश करेगी बुरा हाल

चीन से लिए तीन करोड़
एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री जितेंद्र आह्वाड ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर के बेटे ध्रुव के संगठन ने चीन की कंपनी से 3 करोड़ रुपए का दान लिया है।

इतना ही नहीं एनसीपी नेता ने विदेश मंत्री के बेटे के साथ-साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ( NSA ) अजीत डोभाल ( Ajeet Doval ) पर भी आरोप लगाया है। आह्वाड ने कहा है कि अजीत डोभाल से संबंधित एक संगठन भी चीन से जुड़ा हुआ है।

आपको बता दें कि ये पहली बार नहीं है जब चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान के बीच किसी राजनीति दल ने आरोप लगाए हों। इससे पहले भाजपा खुद कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगा चुकी है।
भाजपा ने यूपीए कार्यकाल में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा राहत कोष PMNR का पैसा राजीव गांधी फाउंडेशन में दान करने का आरोप लगाया था।

एनसीपी के नेता के इस आरोप अपनी ही पार्टी के चीफ की उस बाद को नजर अंदाज कर दिया है जो उन्होंने हाल में कही। शरद पवार ने कहा था कि चीन से तनाव को लेकर राजनीति करना ठीक नहीं है। उन्होंने सातारा में एक कार्यक्रम के दौरान रक्षामंत्री का बचाव भी किया था। शरद पवार ने सीधे-सीधे किसी का नाम लिए बिना अपनी गठबंधन सहयोगी कांग्रेस को यह संदेश भी दिया था कि हमें 1962 नहीं भूलना चाहिए।

आपको बात दें भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद देश के 20 जवानों के शहीद होने के बाद से ही कांग्रेस लगातार भाजपा पर हमला बोल रही है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार पीएम मोदी से भी उस दिन LAC पर क्या हुआ? चीनी सैनिकों ने देश में कहां तक घुसपैठ की? जैसे कई सवालों के जवाब मांग रहे हैं।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned