दिल्ली सरकार को NGT की फटकार, कहा-टू-व्हीलर्स-महिलाओं को नहीं मिलेगी राहत

Mohit sharma

Publish: Nov, 14 2017 02:42:48 PM (IST)

इंडिया की अन्‍य खबरें
दिल्ली सरकार को NGT की फटकार, कहा-टू-व्हीलर्स-महिलाओं को नहीं मिलेगी राहत

NGT ने कहा कि जब रिपोर्ट दो पहिया वाहनों को अधिक प्रदूषण फैलाने वाला कारण बताती है तो फिर इसमें छूट दिलाकर क्या प्राप्त करना चाहते हैं।

नई दिल्ली। राजधानी में ट्रैफिक कंट्रोल को लेकर चलाई जा रही मुहिम ऑड इवन मामले में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल एनजीटी ने दिल्ली सरकार को फटकार लगाई है। मंगलवार को सुनवाई के दौरान एनजीटी ने दिल्ली सरकार के सामने सवाल उठाते हुए कहा कि आपके हिसाब से हेल्थ इमरजेंसी क्या है! एनजीटी ने सरकार से यह भी पूछा कि आखिर आप आदेश में बदलाव क्यों चाहते हैं। क्या इसका मकसद पर्यावरण से या फिर इसका कोई दूसरा कारण है। ट्रिब्यूनल ने कहा कि जब रिपोर्ट दो पहिया वाहनों को अधिक प्रदूषण फैलाने वाला कारण बताती है तो फिर इसमें छूट दिलाकर क्या प्राप्त करना चाहते हैं।

सरकार की नीतियों पर सवाल

एनजीटी ने सरकार द्वारा पानी के छिड़काव को भी गलत ठहराया। कहा कि पेड़ों पर पानी का छिड़काव करने से प्रदूषण उस पर चिपक जाता है। जिससे पेड़ पौधों का जीवन खतरे में पड़ जाता है। एनजीटी ने फटकार लगाते हुए कहा कि किसी को भी मनमर्जी की छूट देना कोई मजाक नहीं है। इसके अलावा ट्रिब्यूनल ने दिल्ली सरकार से से 4000 उन बसों के बारे में भी पूछा जो आने वाली थी।

एनजीटी ने लगाई थी शर्तें

दरअसल, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सरकार ने ऑड-इवन सिस्टम लागू किया था। दिल्ली सरकार की ओर से यह ट्रैफिक कंट्रोल व बढ़ते प्रदूषण पर लगाम लगाने को लेकर उठाया गया एक कदम था। लेकिन यह सिस्टम लागू करने फैसला ऐन वक्त पर केजरीवाल सरकार ने वापस ले लिया था। असल में आॅड इवन को लेकर एनजीटी की ओर से जो शर्तें निर्धारित की गई थी, उसे सरकार ने मानने में असमर्थता जाहिर की थी। बता दे कि एनजीटी की ओर से कहा गया था कि ऑड-इवन कार ही नहीं, बल्कि दोपहिया वाहनों और पुरुषों के साथ-साथ महिलाओं पर भी लागू किया जाए। यही नहीं इस सिस्टम से वीवीआईपी को भी अछूता न रखा जाए। एनजीटी की इन शर्तों को मानने में दिल्ली सरकार ने असमर्थता जाहिर की थी।

NGT
Ad Block is Banned