PM Modi का देश के नाम संबोधनः गरीब कल्याण अन्न योजना का होगा विस्तार, 80 करोड़ लोगों को मिलेगा लाभ

  • Coronavirus संकट के बीच PM Narendra Modi का राष्ट्र के नाम संबोधन
  • PM Modi ने कहा प्रधानमंत्री हो या गांव का प्रधान, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं
  • संबोधन से पहले गृहमंत्री Amit Shah ने किया Tweet, कहा 'Important' जरूर सुनें

नई दिल्ली। देशभर में बढ़ते कोरोना वायरस ( Coronavirus ) के खतरे के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि सरकार गरीब कल्याण अन्न योजना का जल्द विस्तार करेगी। इसे अगले पांच महीने तक चलाया जाएगा। नवंबर तक देश के 80 करोड़ गरीब भाई-बहनों को इसका लाभ मिलेगा।

कोरोना काल में पीएम मोदी का ये छठवां संबोधन था। पीएम मोदी ने कहा कि गांव का प्रधान हो या फिर प्रधानमंत्री कोई नियमों को ऊपर नहीं है। अनलॉक-1 के दौरान देश में सामाजिक दूरी के नियमों को लेकर लापरहवारी देखने को मिली है जो चिंता का कारण है।सभी से प्रार्थना है सचेत रहें।

बदल रहा है मौसम, रखना होगा ध्यान

पीएम मोदी ने कहा मौसम बदल रहा है। अब ऐसा मौसम आया है जिससे सर्दी, खांसी जुकाम आदि के बढ़ने की वजह से बीमारियां बढ़ सकती है। इसलिए सभी को अपना और ज्यादा ध्यान रखना होगा।

- 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली योजना, जुलाई, अगस्त, सितंबर, अक्टूबर और नवंबर में भी लागू रहेगी। सरकार की ओर से इन पांच महीनों के लिए 80 करोड़ से ज्यादा करीब भाई-बहन को हर महीने, परिवार के हर सदस्य को पांच किलो गेहूं या पांच किलो चावल मुफ्त मुहैया कराया जाएगा।

- साथ ही हर परिवार को हर महीने एक किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्यार योजना के इस विस्तार में 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्चहोंगे। पिछले महीने का खर्च जोड़ दें तो ये डेढ़ लाख करोड़ रुपए हो जाता है।

- पूरे भारत के लिेए सपना देखा है। देशभर में एक राशन कार्ड की व्यवस्था भी हो रही है। वन नेशन, वन राशन कार्ड का लाभ उन गरीब साथियों को मिलेगा जो रोजगार या दूसरी व्यवस्थाओं के लिए दूसरे राज्यों में जाते हैं।

- गरीब को जरूरत मंद को सरकार मुफ्त अनाज दे पा रही है तो इसका श्रेय दो वर्गों को जाता है। पहला- हमारे देश के मेहनती किसान हमारेअन्न देवता, दूसरा-हमारे देश के ईमानदार टैक्स पेयर करदाता। आपका समपर्ण की वजहसे देश ये मदद कर पा रहा है।

- प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार दिवाली और छठ पूजा तक। नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाएगा।

- वर्षा ऋतु के दौरान और उसके बाद मुख्य तौर पर कृषि क्षेत्र में ज्यादा काम होता है। अन्य दूसरे सेक्टरों में थोड़ी सुस्ती रहती है। जुलाई से त्योहारों का भी माहौल बनता है।

- अमरीकी की कुल जनसंख्या से ढाई गुना अधिक लोगों को, यूके की जनसंख्या के 12 गुना और यूरोप यूनियन के दोगुना लोगों को हमारी सरकार ने मुफ्त अनाज दिया।

- सरकार लॉकडाउन में गरीब कल्याण रोजगार योजना लाई। इसके तहत पौने दो लाख करोड़ रुपए का पैकेज दिया गया।
समय पर फैसले लेने, संवेदनशीलता से फैसले लेने से मजबूती कई गुना बढ़ जाती है।

स्थानीय प्रशासन भी करे चुस्ती से काम

पीएम मोदी ने उदाहरण देते हुए कहा कि एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार का जुर्माना इसलिए लगा क्योंकि सार्वजनिक स्थल पर मास्क बिना पहने गए। भारत में स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए।
ये 130 करोड़ देशवासियों को बचाने का अभियान है।

- कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ अब हम अनलॉक-2 में प्रवेश कर रहे हैं। अब उस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं। जहां सर्दी-खांसी, जुकाम और बुखार बढ़ जाते हैं।

- सभी से प्रार्थना है। अपना ध्यान रखें। साथियों से बात सही है। कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को देखें तो दुनिया के मुकाबले भारत संभली हुई स्थिति में है।

समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है। लेकिन हम ये भी देख रहे हैं कि जब से देश में अनलॉक-1 हुआ है व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही बढ़ती जा रही है।

माना जा रहा है कि पीएम मोदी अनलॉक-2 की प्रक्रिया से लेकर चीन को लेकर विपक्ष की घेराबंदा तक का जवाब अपने संबोधन के जरिये दे सकते हैं।

वहीं गृहमंत्री ( Home Minister ) अमित शाह ( Amit Shah ) ने पीएम के संबोधन से पहले एक ट्वीट किया और लिखा IMPORTANT ( महत्वपूर्ण )। मैं देशवासियों से अपील करता हूं कि पीएम मोदी का संबोधन जरूर सुनें।

जून खत्म होने से पहले सरकार का बड़ा फैसला, देश के इन राज्यों में लागू नहीं होगा अनलॉक-2

हाल में पीएम नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में ये साफ कर दिया था कि भारत दोस्ती निभाना भी जानता है तो आंख में आंख डालकर जवाब देना भी जानता है।

कैसे चलेगा अनलॉक-2
पीएम मोदी अपने संबोधन में अनलॉक-2 की प्रक्रिया को जनता के सामने रख सकते हैं। 1 जुलाई से लागू होने वाले अनलॉक-2 को लेकर हालांकि गृहमंत्रालय की ओर से गाइडलाइन जारी हो चुकी है। ऐसे में पीएम मोदी बता सकते हैं कि अनलॉक-2 के दौरान भी कुछ क्षेत्रों में अभी पाबंदी क्यों लागू रखी गई है।

चीन से तनाव पर विपक्ष को जवाब
चीन से तनाव के बीच विपक्ष लगातार मोदी सरकार से सवाल कर रहा है। ऐसे में अपने संबोधन में पीएम मोदी चीन के साथ चल रहे तनाव पर भी सरकार की ओर से जवाब दे सकते हैं। आपको बता दें कि तनाव के बीच भारत और चीन के बीच मंगवार को तीसरे दौर की कमांडर स्तर की बातचीत चल रही है। इसको लेकर भी पीएम कोई बयान जारी कर सकते हैं।

फिर मुंबई को दहलाने की कोशिश, पाकिस्तान से आया फोन ताज समेत तीन होटल को उड़ाने की धमकी, मचा हड़कंप

चीनी ऐप पर कार्रवाई और आगे की रणनीति
चीन के साथ चल रही युद्ध और कूटनीति दोनों को लेकर पीएम मोदी देश को संबोधित कर सकते हैं। 59 चाइनीज ऐप को बैन करने के बाद आगे क्या हो सकता है, इसको लेकर भी बता सकते हैं।

डॉक्टर और सीए डे पर कोरोना वॉरियर्स को सलाम
1 जुलाई को डॉक्टर और सीए डे आता है। ऐसे में कोरोना के बीच युद्ध स्तर पर सेवाएं दे रहे डॉक्टरों को लेकर पहले भी पीएम मोदी ताली और थाली पीटने और रोशनी करने के लिए कह चुके हैं। हो सकता है अपने संबोधन में कोई बड़ा ऐलान कर दें। इसी तरह कोरोना लॉकडाउन की वजह से आर्थिक मोर्चों को संभालने में भी सीए की बड़ी भूमिका होती है तो उनको लेकर भी पीएम कोई बड़ी बात कह सकते हैं।

इन मुद्दों पर भी हो सकता है फोकस
- आत्मनिर्भर भारत अभियान
- एयर और रेल सेवाओं को लेकर
- युवाओं से खास अपील
- दो गज दूरी और मास्क का गंभीरता से पालन

PM Narendra Modi Amit Shah
Show More
धीरज शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned