Muharram 2020: मोहर्रम पर भी Corona का साया, इस बार नहीं निकलेंगे बड़े-बड़े ताजिया और जुलूस

  • मुस्लिम समुदाय की ओर से हर वर्ष मनाया जाने वाले Muharram पर भी Coronavirus का साया
  • Covid-19 के चलते इस बार नहीं निकाले जाएंगे ताजिया और जुलूस
  • देशभर में सख्ती से होगा कोरोना गाइडलाइन का पालन

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस ( coronavirus ) का असर तेजी से बढ़ रहा है। कोरोना का साया सभी तीज और त्योहारों पर भी पड़ रहा है। मुस्लिम समुदाय ( Muslim Community ) इस वक्त मोहर्रम ( Muharram ) का इंतजार कर रहा है। हालांकि मोहर्रम की तारीख अभी तय नहीं हो पाई है क्योंकि चांद देखने को बाद 10 दिनी मोहर्रम की शुरुआत होती है। ऐसे में इसके 21 या 22 अगस्त से शुरू होने के आसार हैं, जो 30 या 31 अगस्त तक चलेगा। हालांकि रक्षा बंधन, जन्माष्टमी की तरह मोहर्रम पर भी कोरोना का साया साफ नजर आ रहा है।

यही वजह है कि इस बार मोहर्रम पर ताजिया और जुलूस ( Procession ) निकालने जाने पर रोक लगा दी गई है। देशभर में कोरोना वायरस गाइडलाइन ( Guideline ) का पालन किया जा रहा है। दिल्ली से लेकर कर्नाटक और यूपी से लेकर बिहार तक हर जगह प्रदेश सरकार ने मोहर्रम को लेकर अपनी गाइडलाइन जारी कर दी है।

मानसून को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया सबसे बडा़ अलर्ट, देश के इन राज्यों में अगले कुछ दिनों में होगी भारी बारिश, जानें अपने इलाके का हाल

दिल्लीः

इस बार दिल्ली में मोहर्रम पर जूलूस व ताजिया निकालने पर पाबंदी होगी। डीडीएमए की तरफ से जारी दिशा-निर्देश के में कहा गया है कि दिल्ली में कोविड-19 महामारी के फैलने के खतरा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पहले से ही कोविड-19 को महामारी घोषित किया है। लिहाजा, दिल्ली सरकार कोविड-19 के फैलने से रोकने के लिए सभी प्रभावी उपाय कर रही है। मोहर्रम समारोह के दौरान जुलूस/ताजिया के लिए कोई अनुमति नहीं दी जाएगी।

बिहारः

मोहर्रम पर्व को लेकर बिहार राज्य सिया वक्फ बोर्ड एवं बिहार राज्य सुन्नी वक्फ बोर्ड की सहमति के साथ प्रदेश में कहीं भी ताजिया का जुलूस नहीं निकाला जाएगा। न ही अखाड़ा निकलेगा और न ही सार्वजनिक स्थलों पर शस्त्र प्रदर्शन किया जाएगा। पुलिस महा निदेश गुप्तेश्वर पांडेय ने आईजी व एसएसपी से कहा कि मोहर्रम के अवसर पर जुलूस नहीं निकलेगा। अफवाह फैलाने वालों, खासकर सोशल मीडिया, पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

उत्तर प्रदेशः

उत्तर प्रदेश में भी योगी सरकार ने मोहर्रम पर ताजिया और जुलूस निकालने पर पाबंदी लगा दी है। गुरुपूर्णिमा, हरियाली तीज, ईद, और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व की तरह से ही मोहर्रम का पर्व भी घरों में रहकर मनाया जाएगा। जुलूस और सार्वजनिक कार्यक्रमों पर पहले से ही प्रतिबंध लगा हुआ है। इसलिए मोहर्रम पर जुलूस नहीं निकाले जाएंगे।

झारखंडः

झारखंड की राजधानी रांची के सेंट्रल मोहर्रम कमेटी कार्यालय में मुहर्रम को लेकर बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में कोरोना की सरकारी गाइडलाइन पर अमल करते हुए इस वर्ष मुहर्रम का जुलूस नहीं निकालने का निर्णय लिया गया। सेंट्रल मुहर्रम कमेटी कार्यालय में हाजी अब्दुलकादिर रब्बानी की अध्यक्षता में कोविड-19 को देखते हुए मुहर्रम का जुलूस नहीं निकालने का निर्णय लिया गया। इसके साथ ही कमेटी मुहर्रम से संबंधित गाइडलाइन भी जारी करेगी।

कोरोना संकट के बीच भारतीय रेलवे का एक और बड़ा कारनामा, लॉकडाउन के एक महीने में बना डाला नायाब इंजन, जानें इसकी खासियत

कर्नाटकः

कर्नाटक सरकार ने कोरोनोवायरस महामारी को देखते हुए इस वर्ष मुहर्रम के जुलूसों पर प्रतिबंध लगा दिया है। अल्पसंख्यक कल्याण, हज और वक्फ सचिव ए बी इब्राहिम ने कहा कि सार्वजनिक समारोहों और जुलूसों को निकालना पर सख्त पाबंदी रहेगी।

coronavirus
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned