डिलीवरी ब्वॉय कामराज के बचाव में क्यों उतर आई Zomato? किसी सस्पेंस थ्रिलर से कम नहीं पूरी कहानी

  • बेंगलुरु फूड जोमैटो डिलीवरी ब्वॉय मारपीट मामले में आया ट्विस्ट
  • जोमैटो ने किया अपने डिलीवरी ब्वॉय का समर्थन, जानिए वजह

नई दिल्ली। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में पिछले दिनों इंडियन रेस्ट्रोरेंट एग्रीगेटर और फूड डिलीवरी एप जोमैटो ( zomato ) के डिलीवरी ब्वॉय ( zomato Delivery boy ) को गिरफ्तार किया था। कामराज नाम का यह डिलीवरी ब्वॉय एक हितेशा नाम की महिला को खाना पहुंचाने पहुंचा था। आरोप है कि कामराज ने महिला से बदतमीजी की और उसको नाम की पर मुक्का मार दिया था। इस घटना में घायल महिला ने सोशल मीडिया पर लाइव आकर न केवल अपनी बात रखी, बल्कि डिलीवरी ब्वॉय की शिकायत भी की थी। महिला का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था, जिसके बाद कामराज को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया, लेकिन मामले में ट्विस्ट देखने को मिल रहा है।

जानिए कैसे चोटिल हो गई महिला

दरअसल, कहानी में ट्विस्ट तब आया जब डिलीवरी ब्वॉय कामराज ने एक न्यूज वेबवाइट को बताया कि उसने महिला के साथ कोई अभद्रता नहीं की और न ही उसको मुक्का मारा है। उसने खुद ही अपने आप को चोटिल किया था। कामराज ने बताया कि जब वह डिलीवरी देने उसके घर पहुंचा तो खाना देकर उसने महिला से पैसे मांगे और ट्रैफिक जाम में फंसने की वजह से हुई देरी के लिए माफी भी मांगी। लेकिन उसने चिल्लाना शुरू कर दिया और देरी से आने के लिए झगड़ा करने लगी। महिला का कहना था कि वह खाना पहुंचाने में 40 से 45 मिनट लेट हुआ है, इसलिए वह उसको माफ नहीं करेगी। डिलीवरी ब्वॉय के अनुसार इस दौरान वह महिला से लगातार माफी की गुहार लगा रहा था।

कुदरत ने बदली इस महिला के शरीर की बनावट, सच जानकर रह जाएंगे हैरान

पैसे मांगने पर शुरू हुआ था विवाद

डिलीवरी ब्वॉय ने बताया कि महिला ने खाना लिया लेकिन पैसे देने से इनकार कर दिया। पैसे मांगने पर महिला ने कामराज को गुलाम भी कहा और कहा कि आखिर तुम कर भी क्या सकते हो। यह कहकर उसने जोमैटो सपोर्ट से ऑर्डर कैंसल कर दिया। आरोप है कि ऑर्डर कैंसल होने क बाद जब कामराज ने उससे खाना वापस मांगा तो उसने पैकेट लौटाने से इनकार कर दिया। कामराज ने बताया कि महिला की हरकतों को देखकर वह समझ चुका था कि वह न खाना देगी और न ही पैसे। इसलिए उसने वापस जाना ही उचित समझा। लेकिन जैसे ही वह वापस जाने लगा महिला ने उसको चप्पल फेंक कर मारी और गाली देने लगी। महिला अपनी चप्पल से लगातार उसके मुंह पर मारे जा रही थी, जिससे बचने के लिए कामराज ने अपने हाथों से अपना चेहरा कवर कर लिया। कामराज ने बताया कि जब वह मेरे हाथों को जबरन हटाकर मेरे मुंह पर चप्पल मारने का प्रयास कर रही थी तो इस दौरान उनकी अंगूठी उनकी नाक पर जा लगी, जिससे वह चोटिल हो गई।

निर्दोष साबित होने के लिए नहीं सबूत

कामराज ने बताया कि यह स्पष्ट है कि नाक पर ऐसा जख्म मुक्का मारने से नहीं बनाया जा सकता। आपको बता दें कि महिला की अंगूठी को उनके इंस्टाग्राम पर भी नोटिस किया जा सकता है। कामराज की माने तो महिला ने उसको बिल्डिंग की लिफ्ट भी इस्तेमाल नहीं करने दी और उसको सीढिय़ों से उतरकर वापस आना पड़ा। कामराज ने जब इस घटना की जानकारी अपने ऑफिस में दी तो पूरे स्टॉफ ने उनके साथ सिमपेथी दिखाई। कामराज का कहना है कि अब उसके पास घटना का कोई वीडियो या सीसीटीवी फुटेज नहीं है, ताकि वह अपने आप को बेकसूर साबित कर सके। हालांकि इस बीच पुलिस ने उसको गिरफ्तार करते हुए उससे पूछताछ की, लेकिन उसने पुलिस से कोई समस्या नहीं बताई। लेकिन कामराज का कहना है कि उसको पुलिस से अपने आप को बचाने के लिए 25 हजार रुपए लीगल पेमेंट करना पड़ सकता है।

West Bengal: चुनावी मैदान में उतरी BJP की 'सुपर 22 टीम', जानिए पार्टी ने किन नेताओं पर जताया भरोसा

जोमैटी के फाउंडर ने दिया यह बयान

आपको बता दें कि मामला तूल पकड़ते देख जोमेटो के संस्थापक दीपेंद्र गोयल ( Zomato founder Deepinder Goyal ) ने सोशल मीडिया पर आकर एक बयान जारी किया है। उन्होंने बताया कि वह घटना में चोटिल हुई महिला के इलाज का पूरा खर्च उठा रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कामराज को भी सस्पेंड कर दिया है और वह उसका भी कानूनी खर्च वहन कर रहे हैं। हालांकि इस बीच दीपेंद्र ने कहा कि कामराज एक अच्छा डिलीवरी ब्वॉय है, उसने 26 महीनों के कार्यकाल में पांच हजार से ज्यादा डिलीवरी की और 4.57 रेटिंग्स पाई, जो काफी शानदान हैं। उन्होनें कहा कि वह इस मामले की तह में जाने का प्रयास कर रहे हैं।

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned