महिला डॉक्टरों की बढ़ी मुश्किल, Online Session में फर्जी मरीज कर रहे अश्लील हरकतें और भद्दे कमेंट

  • Online Session में महिलाओं डॉक्टरों की बढ़ी मुश्किल
  • फर्जी मरीज महिला डॉक्टरों को भद्दे कमेंट और अश्लील हरकतों से कर रहे परेशान
  • महिला डॉक्टरों के एफबी, इंस्टाग्राम अकाउंट पर जाकर मांगते हैं पर्सनल नंबर

नई दिल्ली। डॉक्टरों को धरती पर भगवान का रूप कहा जाता है। तकनीकी जहां लोगों को सुविधाएं देकर जिंदगी को आसान बनाने के काम किया है वहीं कुछ लोगों के लिए परेशानी का कारण भी बन गया है। खासतौर पर डिजिटलाइजेशन के युग में स्वास्थ्य सेवाएं भी अब ऑनलाइन ली जा रही हैं। लेकिन ये ऑनलाइन सेशन ( Online Consultation ) डॉक्टरों खास तौर पर महिला डॉक्टरों ( Women Doctors )के लिए मुसीबत बनते जा रहे हैं।

24X7 ऑनलाइन कंसलटेशन देने वाली वेबसाइटों पर महिला डॉक्टरों के साथ फर्जी मरीज अश्लील हरकतें कर उनकी मुश्किलें बढ़ा रहे हैं। ये साइट महिला डॉक्टरों के उत्पीड़न का जरिया बनती जा रही हैं। खास बात यह है कि वेबसाइट इसकी जानकारी पुलिस को देने के बजाए इसे छिपाने की कोशिश कर रहे हैं।

रेलवे ट्रैक के पास मिला इस दिग्गज नेता का शव, कुछ दिन पहले ही सदन में कांग्रेस नेताओं ने कुर्सी से खींचा था

अश्लील हरकतें और भद्दे कमेट
ऑनलाइन कंसल्टेशन के दौरान महिला डॉक्टरों के सामने फर्जी मरीज अश्लील हरकतों के साथ भद्दे कमेंट भी करते हैं। इसके चलते डॉक्टरों को कई बार मुश्किल परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है।

रेग्युलेटरी के आदेश को अनदेखा
रेग्युलेटरी ने इस साल मई में एक आदेश जारी किया था, जिसमें कहा गया था टेलीमेडिसिन कंसलटेशन में मरीज और डॉक्टर का एक-दूसरे को जानना जरूरी है। लेकिन ज्यादातर वेबसाइट इस नियम को अनदेखा कर रही हैं। कई वेबसाइट पर रजिस्ट्रेनश के सेकंड और मिनटों बाद मरीजों को कंसलटेशन के लिए चिकित्सक मिल जाते हैं।

नंबर बदल करते परेशान
कई बार फर्जी मरीजों को पहचानते हैं महिला डॉक्टर उनके नंबर को ब्लॉक कर देती हैं। लेकिन इसका भी ज्यादा फायदा नहीं मिलता क्योंकि ये फर्जी मरीज या तो किसी अन्य डॉक्टर को शिकार बनाते हैं, या फिर नंबर बदलकर दोबारा कॉल कर लेते हैं।

महिला बनकर पुरुष करते हैं रजिस्ट्रेशन
महिला डॉक्टरों की परेशानी तो तब बढ़ती है , जबकि कई महिलाओं को नाम पर किए गए रजिस्ट्रेशन में पुरुष मरीज ऑनलाइन आ जाते हैं। ये फेक प्रोफाइल बनाकर डॉक्टरों की उत्पीड़न करते हैं।

रात में ज्यादा आती हैं फर्जी कॉल
ज्यादातर फर्जी कॉल रात में देखने को मिल रहे हैं। ऐसे में कुछ वेबसाइट्स महिला डॉक्टरों की ड्यूटी रात में नहीं लगा रही हैं, तो कुछ महीने भर के अनलिमिटेड कंसलटेशन देना बंद कर रही हैं।

भेजते हैं ऐसे मैसेज
इन वेबसाइट्स पर फर्जी मरीज महिला डॉक्टरों से अश्लील बातें करने की कोशिश करते हैं। यही नहीं उन्हें भद्दे कमेंट भी भेजते हैं। कुछ केसेज में तो मरीज डॉक्टरों से फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत उनके सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म तक पहुंचकर उन्हें फ्रेंड रिक्वेस्ट भी भेज रहे हैं। इन प्लेटफॉर्म पर जाकर ये मरीज महिला डॉक्टरों से उनके पर्सनल नंबरों की मांग भी करते हैं।

नए साल में जनवरी से एक बार फिर खुलने जा रहे हैं स्कूल, जानिए आपके राज्य में सरकार ने क्या जारी किए निर्देश

कंपनियां भी अलर्ट
वेबसाइट्स पर महिला डॉक्टरों के साथ लगातार हो रहे दुर्रव्यवहार के चलते अब वेबसाइट्स की कंपनियां भी अलर्ट हो गई हैं। साइट में तकनीकी बदलाव के साथ सुरक्षा को लेकर काम शुरू कर दिया है। धानी के प्रवक्ता ने बताया कि धानी हेल्थकेयर एक नया वेंचर है और एक महीने में चीजें ठीक हो जाएंगी।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned