यूपी के मुजफ्फरनगर में फिर माहाैल बिगाड़ने की काेशिश

  • शरारती तत्वों ने कब्रिस्तान में की ताेड़फाेड़
  • ग्रामीणों ने कहा माहाैल बिगाड़ने की साजिश

By: shivmani tyagi

Published: 12 Feb 2021, 05:11 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मुजफ्फरनगर. गुरुवार की शाम मुजफ्फरनगर में फिर से माहाैल बिगाड़ने की काेशिश की गई। अज्ञात शरारती तत्वों ने धार्मिक स्थल ( कब्रिस्तान ) में तोड़फोड़ करते हुए धार्मिक भावनाओं काे भड़काने का प्रयास किया लाेकिन माहाैल बिगाड़ने वाले अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हाे सके ग्रामीण समझ गए कि किसी ने विकृत मानसिकता की इस घटना काे अंजाम देकर गांव का महाैल बिगाड़ने की काेशिश की है।

यह भी पढ़ें: पंचायत चुनाव: इंतजार हुआ खत्म, जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए आरक्षण की सूची जारी, देखें लिस्ट

जानकारी के अनुसार थाना भोपा क्षेत्र के गांव बेलडा में अज्ञात शरारती तत्वों ने शिया समाज के कब्रिस्तान में घुसकरचार कब्रों में तोड़फोड़ की और कब्रिस्तान में मौजूद एक पीर को भी तोड़फाेड़ करके छतिग्रस्त कर दिया। मामले की सूचना मिलने पर ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और पुलिस को सूचना दी। घटना को लेकर ग्रामीणों में रोष फैल गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की तहकीकात शुरू की ताे पता चला कि असामाजिक तत्वाें ने गांव में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के इरादे से इस घटना काे अंजाम दिया लेकिन ग्रामीणाें ने साफ कह दिया कि वह किसी की कीमत पर भाईचारें काे प्रभावित नहीं हाेंगे देंगे।

यह भी पढ़ें: गुड़ चाकू, शक्कर और चीनी के दामों में बढ़ोतरी, जानिये आज के भाव

मामला थाना भोपा क्षेत्र के गांव बेलड़ा का है। गुरुवार की शाम को जब शिया समाज के कुछ लोग कब्रिस्तान पहुंचे तो वे वहां की हालत देखकर हैरान रह गये। कब्रिस्तान में मौजूद चार कब्रों के तकिये टूटे हुए थे। इसी कब्रिस्तान में मौजूद एक पीर को भी क्षतिग्रस्त किया गया था। प्रत्यक्षदर्शियों ने इसकी सूचना अपने समाज के लोगों को दी, जिस पर शिया समाज के लोगों में रोष फैल गये और वह बड़ी संख्या में कब्रिस्तान में पहुंच गये। इस समाज के लोगों के साथ गांव के अन्य लोग भी वहां पहुंचे। कब्रिस्तान की हालत देखकर ग्रामीणों में रोष व्याप्त हो गया और उन्होंने इसकी सूचना भोपा थाना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरू कर दी। गांव के जिम्मेदार लोगों ने शरारती तत्वों के मंसूबों पर पानी फेर दिया और उन्होंने गांव की शान्ति बरकरार बनाये रखनी बात कही। ग्रामीणाें ने कहा कि ग्राम पंचायत चुनाव आने वाले हैं ऐसे में कब्रों में तोड़फोड़ के जरिये वोटों का ध्रुवीकरण करने की साजिश भी हाे सकती है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned