दिल्ली सरकार की दवाइयां यूपी के माफिया के घर में मिलीं, 80 प्रतिशत हो चुकी एक्सपायर

माफिया के घर पकड़ी गई दवाइयों के मामले में बड़ा खुलासा। पकड़ी गई दवाइयों में दिल्ली सरकार की सरकारी सप्लाई की भी दवाइयां शामिल। 80 प्रतिशत दवाईयां थीं एक्सपायरी डेट की। मामले में बड़ा गिरोह कर रहा है काम।

By: Rahul Chauhan

Published: 17 Jun 2021, 11:58 AM IST

मुजफ्फरनगर। 4 दिन पहले थाना नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के गांव शेर नगर में वर्तमान ग्राम प्रधान के देवर के घर छापेमारी में मिली लाखों रुपये की दवाइयों के जखीरे के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। जिसमें एक बड़े गिरोह के काम करने का भी खुलासा हुआ है। जिला प्रशासन ने मामले में सख्त कदम उठाते हुए अन्य आरोपियों को भी चिन्हित करने का काम शुरू कर दिया है। जांच में यह भी सामने आया कि कोविड-19 वैश्विक महामारी के दौरान गिरोह ने इसे रुपए कमाने के अवसर के रूप में इस्तेमाल किया है, क्योंकि पकड़ी गई दवाइयों में 80 प्रतिशत दवाइयां एक्सपायरी डेट की पाई गई है मौके से दवाइयों से डेट मिटाने के लिए थिनर की भी बोतलें मिली है मौके से मिले।

यह भी पढ़ें: सड़क पर बाइक खड़ी करने पर हुआ विवाद, युवक पर डाल दिया खौलता हुआ तेल

दस्तावेजों के अनुसार पूरे मामले में बड़े गिरोह के होने प्रमाण भी मिले हैं। वहीं मौके से बरामद दवाइयों में दिल्ली सरकार की सरकारी सप्लाई की ऐसी दवाइयां पाई गई हैं, जो कोविड-19 बीमारी में इस्तेमाल की जाती है। पकड़े गए आरोपी इनाम के पास दवाई सप्लाई का कोई लाइसेंस भी नहीं पाया गया है। जानकारी के अनुसार आरोपी इनाम पिछले 10 वर्षों से अवैध रूप से दवाइयों की तस्करी में शामिल था।

यह भी पढ़ें: 'आजम खान नहीं खा पा रहे खाना, उनके साथ हो रहा बुरा सलूक'

बता दें कि मुज़फ्फरनगर में गत 12 जून को जिला प्रशासन ने मुखबिर की सूचना पर थाना नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के गांव शेरनगर में वर्तमान ग्राम प्रधान गुल्फाना के देवर इनाम के घर छापेमारी की थी। छापेमारी के दौरान मौके से लाखों रुपए की दवाइयों का जखीरा बरामद किया था। इस मामले में जिला प्रशासन की ओर से थाना नई मंडी कोतवाली में आरोपी ड्रग्स माफिया इनाम के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए जांच शुरू की गई थी। जिसमें अभी तक की जांच के दौरान जो खुलासा हुआ है वह वाकई चौंकाने वाला है। जिसमें ड्रग इंस्पेक्टर लव कुश ने जानकारी देते हुए बताया कि पकड़ी गई दवाइयों की बाजार में कीमत लगभग 65 लाख रुपये आंकी गई है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned