'आजम खान नहीं खा पा रहे खाना, उनके साथ हो रहा बुरा सलूक'

लखनऊ के अस्पताल में भर्ती हैं आजम खान। कोरोना संक्रमण के बाद कराए गए थे भर्ती। आजम की पत्नी ने भाजपा सरकार पर लगाए गंभीर आरोप।

By: Rahul Chauhan

Published: 17 Jun 2021, 10:57 AM IST

रामपुर। सांसद आजम खान (azam khan) की पत्नी और रामपुर नगर विधायक तंज़ीम फातिमा (tanzeem fatima) ने बताया कि इन दिनों आजम खान ठीक से खाना नहीं खा पा रहे हैं। उनके मुह में अल्सर है। उनका आरोप है कि आजम खान को सांसद के प्रोटोकॉल के तहत भी कोई सेवा नहीं दी जा रही है। उनके साथ बुरा सलूक किया जा रहा है। सांसद आजम खान ने अपने जिले के अलावा पूरे प्रदेश के जिलों में बेहतर विकास कराए, जबकि अपने नगर को बेहतर बनाने के लिए शिक्षा के जगत में यूनिवर्सिटी बनाई पर वर्तमान की योगी सरकार ने सब बर्बाद कर दिया।

यह भी पढ़ें: परिवार को 10 दिन से नहीं मिली रोटी, दो महीने से भरपेट खाना न मिलने से सूख गई मां और पांच बच्चे

तंजीम फातिमा ने आगे कहा कि आजम साहब ने किसी की भैंसें नहीं चुराईं, न ही वो भू-माफिया हैं। पर सरकार ने उन्हें भू माफिया घोषित करके उनके विरुद्ध सैकड़ों केस फाइल करके उन्हें बर्बाद करने के लिए जेल में ठूंस दिया। अब उनकी हालात खराब है। सांसद आजम खान एक लोकप्रिय नेता हैं। सरकारें तो बदलती रहती हैं, पर वर्तमान की सरकार ने जो उन पर जुल्म ढ़ाया है, वह किसी तानाशाही से कम नहीं है। तानाशाह रवैया से आजम साहब को बर्बाद करने की जो नीति योगी सरकार ने बनाई है, इसके लिए पूरे प्रदेश की जनता 2022 के चुनाव में उनका पूरा का पूरा हिसाब किताब करेगी।

उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने आजम खान पर ही जुल्म नहीं किया, बल्कि हर तबके के लोगों पर जुल्म किए गए हैं। पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा है। क्राइम बढ़ता जा रहा है लोगों के साथ प्रशासन जुल्म करता जा रहा है योगी जी को सब यह नजर नहीं आ रहा है। आजम खान साहब ने पूरे प्रदेश में जो अपनी पकड़ लोगों की मदद करके बनाई। वह सब चीजें इनको पच नहीं पा रही हैं। इसलिए उन्हें बर्बाद करने का पूरा प्लान है और उसी प्लान को लेकर इनकी सरकार के अधिकारी काम कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: 2 बीडीसी सदस्यों का अपहरण, भाकियू और रालोद ने किया आर-पार की लड़ाई का ऐलान

गौरतलब है कि बीते महीने सीतापुर जेल में बंद आजम खान के फेफड़ों में पोस्ट कोविड फाइब्रोसिस, कैविटी और चेस्ट इंफेक्शन पाया गया था। इससे पहले उनकी और उनके बेटे अब्दुल्ला की 30 अप्रैल को आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट आने पर उनको कोरोना संक्रमण होने की पुष्टि हुई थी। 2 मई को प्रशासन ने उन्हें बेहतर इलाज के लिए लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज ले जाने की सलाह दी थी, लेकिन तब उन्होंने सीतापुर जेल से बाहर जाने से इनकार कर दिया था। वहीं कुछ दिनों बाद तबीयत बिगड़ने पर उन्हें लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनका उपचार चल रहा है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned