आखिर ऐसा क्या हुआ कि नागौर मिर्धा कॉलेज की एनसीसी कैडेट्स को उतरना पड़ा सड़क पर....

एनसीसी महिला विंग बचाने के लिए कैडेट्स ने NAGAUR कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर कॉलेज में लेक्चरर की नियुक्ति करवाने की मांग की।

By: Dharmendra gaur

Published: 09 Dec 2017, 02:53 PM IST

नागौर. एनसीसी महिला विंग बचाने के लिए मिर्धा कॉलेज की एनसीसी कैडेट्स ने शुक्रवार को कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर कॉलेज में लेक्चरर की नियुक्ति करवाने की मांग की। गौरतलब है कि मिर्धा कॉलेज में 42 से कम उम्र की महिला लेक्चरर नहीं होने के चलते कॉलेज में महिला एनसीसी विंग बंद होने की कगार पर है। कैडेट्स ने उनको हो रही परेशानी को लेकर एनसीसी की छात्राएं कलक्ट्रेट पहुंची और सरकार को संबोधित ज्ञापन कलक्टर को सौंपा।
मिल चुका है नोटिस
कैडेट्स का कहना है कि मिर्धा कॉलेज की एनसीसी की 3 राज महिला बटालियन बंद होने की कगार पर है। कॉलेज में 42 साल से कम उम्र की महिला व्याख्याता नहीं होने के कारण एनसीसी युनिट बंद होने के सन्बध में जोधपुर एनसीसी कार्यालय से नोटिस आ चुका है। ज्ञापन में लिखा है कि कॉलेज में 42 साल से कम उम्र की लेक्चरर की पोस्टिंग की जाए, ताकि एनसीसी की विंग का संचालन सुचार रूप से हो सके। मिर्धा कॉलेज में 1448 छात्राएं हैं, ऐसे में एनसीसी विंग आवश्यक है।
आंदोलन की चेतावनी
छात्राओं ने ज्ञापन में लिखा है कि एनसीसी विंग को किसी हालत में बंद नहीं होने देंगे, जरुरत पडऩे पर आंदोलन भी करेंगे। मिर्धा कॉलेज छात्र संघ अध्यक्ष सुरेन्द्र दौतड़ के नेतृत्व में कैडेट्स प्रेमलता, सुमन, सुधा, लीला, उर्वशी, निरमा, प्रियंका, अनिता, राजू, मनीषा, सरोज, सोनम, अनिता, प्रियंका, माया, वर्षा, सुशीला, सुमन, रोहित आदि ने सरकार से कॉलेज में जल्द से जल्द व्याख्याता नियुक्त करवाने की मांग की।

हाउसिंग बोर्ड में सीवरेज की मांग
ताउसर रोड स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में सीवरेज लाइन बिछाने की मांग को लेकर कॉलोनी के लोगों ने शुक्रवार को कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। हनुमान बांगड़ा, मोहित व्यास, अर्जुन गहलोत, सुरेन्द्र मंडा, चांदमल भाटी, रविन्द्र आदि ने ज्ञापन में लिखा है कि कॉलोनी में सड़क निर्माण कार्य चल रहा है लेकिन कॉलोनी में प्रस्तावित सीवरेज का कार्य अभी तक शुरू नहीं हो पाया है। पक्की सड़कों का निर्माण होने से पहले ही सीवरेज का कार्य हो जाए तो बाद में सड़कों को तोडऩा नहीं पड़ेगा। साथ ही ठेकेदार द्वारा सड़क की ऊंचाई ज्यादा लेने से बारिश के दिनों में पानी घरों में घुसने की समस्या का सामना करना पड़ेगा।

Dharmendra gaur Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned