कृषि विभाग की कार्यप्रणाली पर नाराज हुए कलेक्टर

कृषि विभाग की कार्यप्रणाली पर नाराज हुए कलेक्टर
Angered Collector on the working of the Department of Agriculture

Amit Sharma | Updated: 18 Jul 2019, 08:26:34 PM (IST) Narsinghpur, Narsinghpur, Madhya Pradesh, India

कृषि विभाग की कार्यप्रणाली पर नाराज हुए कलेक्टर

कृषि विभाग की कार्यप्रणाली पर नाराज हुए कलेक्टर
सीएम हेल्पलाइन की कृषि व स्वास्थ्य विभाग की 40 लंबित शिकायतों की समीक्षा

नरसिंहपुर- कलेक्टर ने गुरूवार को कृषि एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और शिकायतकर्ताओं के सामने लंबित चयनित शिकायतों की गहन समीक्षा की। शिकायतों की समीक्षा के दौरान सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण की दिशा में कृषि विभाग की कार्यप्रणाली पर कलेक्टर ने गहरी अप्रसन्नता व्यक्त की। कलेक्टर ने निर्देश दिये कि कृषि विभाग की हितग्राहीमूलक योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन पर ध्यान दिया जावे। उन्होंने फ सल बीमा के लंबित प्रकरणों में भी गहरी नाराजगी जताई। उन्होंने उप संचालक कृषि को निर्देश दिये कि वे फ सल बीमा के लंबित प्रकरणों की जांच करें,जो किसान पात्र हैं,उन्हें फ सल बीमा की राशि मिलना चाहिये। फ सल बीमा वाले मामलों में जिम्मेदारी तय की जाना चाहिये। एक किसान के बैंक खाते का आईएफ एस कोड गलत होने के कारण बेचे गये चना की बोनस की राशि का भुगतान नहीं होने के प्रकरण में कलेक्टर ने संबंधित अधिकारी की जिम्मेदारी तय कर प्रतिवेदन देने के निर्देश उप संचालक कृषि को दिये। स्वास्थ्य विभाग से संबंधित प्रकरणों की समीक्षा के दौरान ऑपरेशन की राशि नहीं मिलने और ग्रीन कार्ड नहीं बनाने की शिकायत के मामले में बीएमओ गोटेगांव को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश कलेक्टर ने दिये।गुरूवार को कलेक्टर ने कृषि एवं स्वास्थ्य विभाग की सबसे पुरानी 20-20 ऐसी शिकायतों की समीक्षा की, जो सीएम हेल्पलाइन पोर्टल पर एल 4 स्तर पर लंबित हैं। ऐसी कुल 40 शिकायतों की समीक्षा की गई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned