scriptDCGI Expert committee grants approval to nasal vaccine as booster dose | कोरोन के खिलाफ जारी जंग में भारत को एक और सफलता, नेजल वैक्सीन के तीसरे फेज के ट्रायल को मिली मंजूरी | Patrika News

कोरोन के खिलाफ जारी जंग में भारत को एक और सफलता, नेजल वैक्सीन के तीसरे फेज के ट्रायल को मिली मंजूरी

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ( DCGI ) की एक्सपर्ट कमिटी ने भारत बायोटेक को अपने इंट्रानेजल कोविड-19 वैक्सीन के तीसरे फेज की ट्रायल के लिए मंजूरी दे दी है।

नई दिल्ली

Published: January 05, 2022 01:02:35 pm

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ( DCGI ) की एक्सपर्ट समिति ने भारत बायोटेक को अपने नेजल वैक्सीन ( नाक के जरिए दी जाने वाली वैक्सीन ) को बूस्टर डोज के तौर पर मंजूरी देने पर विचार किया है| मंगलवार को हुई बैठक के बाद एक्सपर्ट कमिटी ने वैक्सीन के तीसरे फेज के ट्रायल को मंजूरी दे दी है। माना जा रहा है, कि ट्रायल के बाद नेजल वैक्सीन को कोरोनावायरस के तौर पर इमरजेंसी उपयोग की अनुमति मिल सकती है। भारत बायोटेक का कहना है कि दोनों डोज लगवा चुके लोगों को अगर बूस्टर डोज दिया जाता है तो उस स्थिति में नेजल वैक्सीन अच्छा विकल्प साबित हो सकती है। सम्बंधित कंपनी ने इसके लिए सरकार से मंजूरी मांगी है।

nasal_tika.jpg

नेजल वैक्सीन का क्या है फायदा
इस वैक्सीन की मुख्य बात यह है कि इस नाक के जरिए शरीर में पहुंचाया जाएगा। दूसरी खुराक और बूस्टर डोज के बीच का अंतराल 6 महीने तक हो सकता है। जानकारी के अनुसार भारत बायोटेक द्वारा सरकार को भेजे गए प्रस्ताव में कहा गया है कि नेजल वैक्सीन को बूस्टर डोज के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। यह डोज उन लोगों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है जो कोविशील्ड और कोवैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके हैं। इससे पहले इस वैक्सीन के निर्माता ने उन लोगों के लिए बूस्टर खुराक का प्रस्ताव दिया है, जिन्हें पहले से ही कोविशील्ड औए कोवैक्सीन का टीका लगाया गया हो।


यह भी पढ़ें : Delhi Weekend Curfew Guidelines: राजधानी दिल्ली में कर्फ्यू के दौरान किसे होगी आने- जाने की छूट, जानिए क्या है नई गाइडलाइन में


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पिछले महीने कहा था - भारत को बधाई हमको कोविड के खिलाफ जंग में सफलता पूर्वक आगे बढ़ रहे हैं। भारत सरकार ने दो वैक्सीन और एक टेबलेट को मंजूरी दे दी है, ये हैं- कोवोवैक्स, कोर्वीवैक्स और एक पिल जिसका नाम मोल्नुपिराविर है|

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजविराट कोहली ने किसके सिर फोड़ा हार का ठीकरा?, रहाणे-पुजारा का पत्ता कटना तयएसईसीएल ने प्रभावित गांवों को मूलभूत सुविधा देना किया बंद, कोल डस्ट मिले पानी से बर्बाद हो रहे हैं खेततीसरी लहर का खतरनाक ट्रेंड, डाक्टर्स ने बताए संक्रमण के ये खास लक्षण
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.