scriptFarmer Protest Five name finalised by SKM to talk with Government next meeting will be held on december 7 | Farmer Protest: अभी जारी रहेगा आंदोलन, सरकार से बात करेगी SKM की 5 सदस्यी कमेटी, अगली बैठक 7 को | Patrika News

Farmer Protest: अभी जारी रहेगा आंदोलन, सरकार से बात करेगी SKM की 5 सदस्यी कमेटी, अगली बैठक 7 को

Farmer Protest 13 महीनों से चल रहा किसान आंदोलन अभी खत्म होता नजर नहीं आ रहा है। भले ही केंद्र सरकार तीनों कृषि कानून वापस ले लिए हों, लेकिन अब भी किसान अपनी कुछ मांगों को लेकर अड़े हैं। शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में 5 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है जो आगे सरकार से बातचीत करेगी

नई दिल्ली

Published: December 04, 2021 05:04:36 pm

नई दिल्ली। तीनों कृषि कानून वापसी के बाद भी किसान आंदोलन ( Farmer Protest ) खत्म होगा या नहीं इसको लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ( Sanyukt Kisan Morcha ) की बड़ी बैठक सिंघु बॉर्डर ( Singhu Border ) पर हुई। इस बैठक में ये फैसला लिया गया कि अभी आंदोलन खत्म नहीं होगी। इसके अलावा एमएसपी पर बातचीत के लिए पांच किसानों की एक समिति की गठन किया गया है। ये समिति सरकार को तय समय के मुताबिक आगे की सभी तरह की बातचीत करेगी और इस बातचीत के आधार पर ही आगे के फैसले भी लिए जाएंगे।
672.jpg
इसके साथ ही संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को आयोजित की जाएगी। इस बैठक में आगे की रूप रेखा पर विचार होगा। बता दें कि शनिवार को आयोजित बैठक में 42 किसान संगठनों के प्रमुखों ने हिस्सा लिया।
यह भी पढ़ेँः Farmer Protest: किसान आंदोलन पर फैसला आज! जानिए SKM की बैठक से पहले क्या बोले राकेश टिकैत

ये पांच लोग कमेटी में शामिल
संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से सरकार के साथ बातचीत के लिए तैयार की गई पांच सदस्यी कमेटी में जो लोग शामिल हैं। उनमें बालवीर सिंह राजेवाल, अशोक धवले, शिवकुमार कका, हरियाणा किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी और युद्धवीर सिंह हैं। खास बात यह है कि एमएसपी पर बातचीत के लिए बनाई गई इस समिति में किसान नेता राकेश टिकैत को शामिल नहीं किया गया है।
दर्ज केस वापस लेने के साथ अन्य मांगों पर अड़े किसान
बैठक में चर्चा के दौरान किसान आंदोलन के दौरान दर्ज किए हजारों केसों को वापस लिए जाने की मांग पर अड़े हैं। किसानों का कहना है कि सिर्फ हरियाणा में 48 हजार केस दर्ज किए गए हैं, इसके अलावा देशभर में अलग-अलग जगह केस दर्ज हैं।
यह भी पढ़ेंः Delh Air Pollution: दिल्ली में गहरा रहा सांसों का संकट, कई इलाकों में दमघोंटू हवा, जानिए कहां पहुंचा AQI

किसान नेता रणजीत सिंह ने कहा कि तीन कानून वापस हो गए हैं, लेकिन एमएसपी की गारंटी समेत 6 मुद्दे अभी बाकी हैं। अहम बात यह है कि हरियाणा सरकार के साथ किसानों की बैठक में सरकार ने मुआवजा देने से इनकार दिया है।
जब सरकार ने 15 दिन पहले किसानों से माफी मांगकर कानून वापस ले लिए हैं तो अब बाकी मांगें क्यों नहीं मानी जा रही। 702 किसानों की मृत्यु का आंकड़ा भी सरकार को भेज दिया गया है।
बता दें कि कुछ किसान संगठन कृषि कानून वापस होने के बाद से घर वापसी करना चाहते हैं। लेकिन राकेश टिकैत ने साफ कर दिया है कि जब तक एमएसपी और किसानों पर दर्ज केस वापस नहीं होते, शहीद किसानों को मुआवजा नहीं मिल जाता तब तक आंदोलन जारी रहेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: आज इंडिया गेट पर सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का PM Modi करेंगे लोकार्पणदिल्ली में जनवरी में बारिश का पिछले 32 साल का रिकॉर्ड ध्वस्त, ठंड से छूटी कंपकंपी, एयर क्वालिटी में सुधारCovid-19 Update: भारत में कोरोना के 3.37 लाख नए मामले, मौत के आंकड़ों ने तोड़े सारे रिकॉर्डUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारU19 World Cup: कौन है 19 साल का लड़का Raj Bawa? जिसने शिखर धवन को पछाड़ रचा इतिहासAjmer Urs : 1 फरवरी को उतरेगा संदल, 2 को खुलेगा जन्नती दरवाजाUP Top News: उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग शिक्षक पात्रता परीक्षा आज, दो पालियों में परीक्षाबेहद खतरनाक है ओमिक्रोन, इस अंग को कर रहा खराब, जानिए कैसे करें बचाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.