scriptजेल में गुजरेगी हेमंत सोरेन की होली, परिवार में फूट के बाद कोर्ट ने दिया झटका, 14 दिनों के लिए बढ़ाई न्यायिक हिरासत | Hemant Soren Holi spent in jail court extended judicial custody for 14 days | Patrika News
राष्ट्रीय

जेल में गुजरेगी हेमंत सोरेन की होली, परिवार में फूट के बाद कोर्ट ने दिया झटका, 14 दिनों के लिए बढ़ाई न्यायिक हिरासत

Hemant Soren ED: प्रवर्तन निदेशालय (ED) कोर्ट ने कथित जमीन घोटाले में संलिप्त झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की न्यायिक हिरासत अवधि बढ़ा दी है।

Mar 21, 2024 / 06:29 pm

Paritosh Shahi

hemant_soren_ed.jpg

Hemant Soren ED: रांची स्थित पीएमएलए (PMLA) की स्पेशल कोर्ट ने जमीन घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की न्यायिक हिरासत 14 दिनों के लिए बढ़ा दी। अब, 4 अप्रैल तक हेमंत सोरेन रांची के होटवार स्थित बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा में ही रहेंगे। गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अदालत में हेमंत सोरेन की पेशी हुई और इसके बाद न्यायिक हिरासत की अवधि बढ़ा दी गई।

भानु प्रताप की भी अदालत में ऑनलाइन पेशी हुई

जमीन घोटाले के इसी मामले में जेल में बंद राजस्व उपनिरीक्षक भानु प्रताप की भी अदालत में ऑनलाइन पेशी हुई और उसकी हिरासत भी 14 दिनों के लिए बढ़ा दी गई। बता दें कि रांची के बड़गाईं अंचल में 8.50 एकड़ जमीन की अवैध तरीके से खरीदारी करने के मामले में ईडी ने हेमंत सोरेन को 31 जनवरी को आठ घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया था। इसके बाद से वह जेल में बंद हैं।


सोरेन परिवार में फूट

लोकसभा चुनाव से पहले झारखंड में झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) को एक बड़ा राजनीतिक झटका लगा। जेएमएम के संस्थापक और आदिवासी समाज के बड़े नेता माने जाने वाले शिबू सोरेन की बड़ी बहू सीता सोरेन मंगलवार को भाजपा में शामिल हो गईं। भाजपा राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े और झारखंड के चुनाव प्रभारी लक्ष्मीकांत वाजपेयी एवं अन्य नेताओं की मौजूदगी में सीता सोरेन ने मंगलवार को पार्टी मुख्यालय में भाजपा का दामन थाम लिया।

भाजपा राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े ने सीता सोरेन को आदिवासी समाज की बड़ी और महत्वपूर्ण महिला नेता बताते हुए पार्टी में उनका स्वागत किया और साथ ही यह भी दावा किया कि उनके आने से पार्टी को आगामी चुनावों में झारखंड में फायदा होगा।

सोशल मीडिया पर बयां किया दर्द

सीता सोरेन ने पार्टी से इस्तीफे की जो चिट्ठी पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष यानी अपने ससुर शिबू सोरेन को लिखी, उसमें उन्होंने अपना दर्द बयां करते हुए लिखा, “मैं अत्यंत दुखी हूं। मेरे पति दुर्गा सोरेन झारखंड आंदोलन के अग्रणी योद्धा और महान क्रांतिकारी थे। उनके निधन के बाद से ही मैं और मेरा परिवार लगातार उपेक्षा का शिकार रहे हैं। पार्टी और परिवार के सदस्यों द्वारा हमें अलग-थलग किया गया है, जो कि मेरे लिए अत्यंत पीड़ादायक रहा है। मैंने उम्मीद की थी कि समय के साथ स्थितियां सुधरेगी, परंतु दुर्भाग्यवश ऐसा नहीं हुआ। मुझे झारखंड मुक्ति मोर्चा और इस परिवार को छोड़ना होगा।”

Hindi News/ National News / जेल में गुजरेगी हेमंत सोरेन की होली, परिवार में फूट के बाद कोर्ट ने दिया झटका, 14 दिनों के लिए बढ़ाई न्यायिक हिरासत

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो