scripthigh-profile sedition cases affect by Supreme Court’s historic verdict | देशद्रोह के वो 4 बड़े हाई-प्रोफाइल मामले जो सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले से प्रभावित होंगे | Patrika News

देशद्रोह के वो 4 बड़े हाई-प्रोफाइल मामले जो सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले से प्रभावित होंगे

Sedition Lawa Supreme Court: देशद्रोह कानून पर आज सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया। कोर्ट ने कहा कि जबतक केंद्र इसपर समीक्षा नहीं कर लेता तब तक कोई नया मामला दर्ज नहीं किया जा सकता है। कोर्ट के इस फैसले का असर कई बड़े केस पर पड़ सकता है।

Updated: May 12, 2022 07:30:42 am

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को एक ऐतिहासिक आदेश दिया। कोर्ट ने कहा कि जब तक देशद्रोह कानून पर केंद्र अपनी समीक्षा पूरी नहीं कर लेता तब तक इस कानून पर रोक रहेगी। जो लोग पहले से ही देशद्रोह के आरोपों का सामना कर रहे हैं वे जमानत के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं। इस आदेश के बाद कई ऐसे मामले हैं जिनपर इसका असर पड़ सकता है लेकिन कुछ मामले काफी हाई प्रोफाइल भी हैं। इन मामलों पर भी इस फैसले का असर पड़ सकता है।
high-profile sedition cases will affect by Supreme Court’s historic verdict
high-profile sedition cases will affect by Supreme Court’s historic verdict
कौन से हैं वो बड़े मामले?
1. राणा दंपति
महाराष्ट्र सरकार ने मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग नहीं मानी तब नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान कर दिया था। इसके बाद 23 अप्रैल को उन्हें मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था और उनके खिलाफ देशद्रोह की धारा के तहत भी मामला दर्ज किया गया था। अब सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राणा दंपति कोर्ट का रुख कर अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों का निपटारा करवा सकते हैं।
2. पत्रकार फरहाद शाह
कश्मीर वाला ऑनलाइन पत्रिका के प्रधान संपादक फरहाद शाह को देशद्रोह के मामले में पुलवामा पुलिस गिरफ्तार किये गए थे। फरहाद शाह पर आरोप है कि वो सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें पोस्ट करता है जो राष्ट्र हित और सुरक्षा के खिलाफ है। फरहाद अब अपने ऊपर लगाए गए देशद्रोह के मामले को कोर्ट में चुनौती दे सकते हैं।
3.कांग्रेस नेता अजय राय
कांग्रेस नेता अजय राय पर वाराणसी पुलिस ने 5 फरवरी को एक जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप लगाया था। इसके बाद वाराणसी पुलिस ने उनके खिलाफ 5 फरवरी को ही देशद्रोह का मामला दर्ज किया था। ये मामला कोर्ट तक पहुँच चुका है। 10 फरवरी को उनकी जमानत याचिका भी स्थानीय कोर्ट द्वारा खारिज कर दी गई थी। सुप्रीम कोर्ट के फैसले का असर अब अजय राय पर दर्ज मामले में भी हो सकता है।
यह भी पढ़ें

ओबीसी आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, अब बिना रिजर्वेशन होंगे चुनाव

4. कश्मीर के 3 इंजीनियरिंग छात्रों पर दर्ज देशद्रोह का मामला
पिछले साल अक्टूबर में, आगरा पुलिस ने तीन कश्मीरी इंजीनियरिंग छात्रों, अर्शीद यूसुफ, इनायत अल्ताफ शेख और शौकत अहमद गनई को T20 विश्व कप में भारत के खिलाफ पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने और व्हाट्सएप पर "भारत विरोधी" मैसेज के लिए गिरफ्तार किया था। जिसके बाद इनके खिलाफ देशद्रोह के तहत मामला दर्ज किया गया था। ये तीनों ही छात्र पीएम की विशेष छात्रवृत्ति योजना के लाभार्थी भी थे। सुप्रीम कोर्ट के फैसले का असर इस मामले में भी देखने को मिल सकता है।
यह भी पढ़ें

देश द्रोह कानून: सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक, पुनर्विचार तक नहीं दर्ज हो सकेंगे नए मामले

बता दें कि देशद्रोह के मामलों में हर साल बढ़ोतरी देखने को मिली है। वर्ष 2016 में 35 मामले जोकि 2017 में बढ़कर 51 हो गए। इसके बाद ये मामले 2018 में बढ़कर 70 हो गए। काफी लंबे समय से देशद्रोह कानून को खत्म करे को लेकर बहस होती रही है। वर्ष 2019 के आम चुनावों में ये चुनावी मुद्दा भी बना था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

आंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.