scriptknow about what is Mahua Moitra and Dawood Ibrahim connection | महुआ मोइत्रा हैं दूसरी दाऊद इब्राहिम: निशिकांत दुबे | Patrika News

महुआ मोइत्रा हैं दूसरी दाऊद इब्राहिम: निशिकांत दुबे

Published: Nov 24, 2023 03:34:04 pm

Submitted by:

Prashant Tiwari

Mahua Moitra is second Dawood Ibrahim: पत्रकारों से बात करते हुए दुबे ने कहा अगर दाऊद इब्राहिम आजमगढ़ से चुनाव जीतता तो भी वह राष्ट्र विरोधी ही रहेगा।

 

 know about what is Mahua Moitra and Dawood Ibrahim connection

भारतीय जनता पार्टी के सांसद निशिकांत दुबे ने तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा की तुलना अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से की है। गुरुवार को पत्रकारों से बात करते हुए दुबे ने कहा अगर दाऊद इब्राहिम आजमगढ़ से चुनाव जीतता तो भी वह राष्ट्र विरोधी ही रहेगा।

बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने कैश फॉर क्वैरी मामले में अपनी सांसद मोइत्रा का बचाव किया था। इसके साथ ही उन्होंने दावा किया था कि अगर सरकार महुआ की लोकसभा सदस्यता समाप्त करती है तो वह महुआ पहले से अधिक लोकप्रिय और मजबूत होंगी।

भाजपा सांसद ने की दाऊद इब्राहिम से तुलना

ममता बनर्जी की तरफ से महुआ का बचाव करने पर भाजपा ममता और महुआ दोनों पर आक्रामक हो गई। निशिकांत दुबे ने टीएसी नेता को घेरते हुए कहा, “99 फीसदी संभावनाएं हैं कि अगर दाऊद इब्राहिम उत्तर प्रदेश की आजमगढ़ सीट से चुनाव लड़ता है, तो वह जीत सकता है। लेकिन इससे वह किसी राष्ट्र विरोधी से कम नहीं हो जाएगा।' गुरुवार को भाजपा सांसद ने लोकसभा का गोपनीयता से जुड़ा आदेश साझा किया था और मोइत्रा पर 'चोरी और सीनाजोरी' के आरोप लगाए थे

कैश फॉर क्वैरी की आरोपी हैं महुआ

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर महुआ पर ससंद में सवाल पूछने के लिए पैसे लेने का आरोप लगाया। इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष की तरफ से बनाई गई एथिक्स कमेटी ने मोइत्रा के खिलाफ जांच की थी। जांच के बाद समिति ने टीएमसी सांसद को निलंबित करने की सिफारिश की है।

हालांकि, इसे लेकर अभी अंतिम फैसला नहीं लिया जा सका है। आरोप थे कि मोइत्रा ने रुपयों के बदले में कारोबारी दर्शन हीरानंदानी के साथ संसद की लॉगिन डिटेल्स शेयर की थीं। इस संबंध में हीरानंदानी की तरफ से भी हलफनामा दायर हुआ था।

ममता ने किया था बचाव

वहीं, इस पूरे मामले में टीएमसी सुप्रीमो ने महुआ का बचाव करते हुए कहा था, 'अब, वे महुआ को (संसद से) निष्कासित करने की योजना बना रहे हैं। इसके परिणामस्वरूप वह और अधिक लोकप्रिय हो जाएंगी। जो कुछ वह (संसद के) अंदर कहती थीं, अब वह वही बातें बाहर कहेंगी। क्या कोई चुनाव से तीन महीने पहले ऐसा कुछ करेगा?' मोइत्रा ने भी कार्रवाई पर सवाल उठाए थे।

ट्रेंडिंग वीडियो