scriptMaulana Arshadi Madani said Uniform civil code bill is discriminatory | मौलाना अरशदी मदनी ने सरकार पर लगाए आरोप, कहा- UCC बिल भेदभावपूर्ण | Patrika News

मौलाना अरशदी मदनी ने सरकार पर लगाए आरोप, कहा- UCC बिल भेदभावपूर्ण

locationनई दिल्लीPublished: Feb 07, 2024 04:44:46 pm

Submitted by:

Shivam Shukla

Uniform civil code: उत्तराखंड की विधानसभा में पेश हुए समान नागरिकता संहिता विधेयक पर मौलाना मदनी आरोप लगाते हुए कहा कि ये बिल भेदभावपूर्ण है।

Maulana Arshadi Madani on  Uniform civil code

उत्तराखंड की विधानसभा में पेश समान नागरिकता संहिता इस समय देश में चर्चा का केंद्र बना हुआ है। इसी बीच जमीयत उलेमा-ए-हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने यूसीसी बिल पर आरोप लगाते हुए उसे भेदभावपूर्ण करार दिया है।

बिल को बताया भेदभावपूर्ण

उन्होंने अपने बयान में कहा कि अनुसूचित जनजाति को इस बिल के दायरे से बाहर रखा जा सकता है, तो फिर मुस्लिम समुदाय को छूट क्यों नहीं मिल सकती। उन्होंने आगे कहा कि उत्तराखंड विधानसभा में पेश किये गए समान नागरिक संहिता (यूसीसी) में अनुसूचित जनजातियों को संविधान के अनुच्छेद जो 366ए अध्याय 25ए उपधारा 342 के तहत नए कानून से छूट दी गई है और यह तर्क दिया गया है कि संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत उनके अधिकारों को सुरक्षा प्रदान की गई है।

मौलाना ने की ये मांग

मौलाना ने अपने बयान में आगे कहा कि यदि संविधान की एक धारा के तहत अनुसूचित जनजातियों को इस कानून से अलग रखा जा सकता है तो हमें संविधान की धारा 25 और 26 के तहत धार्मिक आज़ादी क्यों नहीं दी जा सकती। संविधान के अनुच्छेद 25 और 26 के तहत नागरिकों के मौलिक अधिकारों को मान्यता देकर धार्मिक स्वतंत्रता की गारंटी दी गई है।

ट्रेंडिंग वीडियो