scriptखतरे में कांग्रेस सरकार, सुक्खू कैबिनेट में मंत्री विक्रमादित्य सिंह का इस्तीफा, बोले- विधायकों की… | Vikramdaditya Singh, minister in Sukhu government, resigned, said - MLAs were not listened to in the elections | Patrika News

खतरे में कांग्रेस सरकार, सुक्खू कैबिनेट में मंत्री विक्रमादित्य सिंह का इस्तीफा, बोले- विधायकों की…

locationनई दिल्लीPublished: Feb 28, 2024 11:14:07 am

Submitted by:

Prashant Tiwari

Himachal: हिमाचल प्रदेश में मंगलवार को हुए राज्यसभा के एक मात्र सीट के चुनाव में मिली हार के बाद से ही सुखविंदर सिंह सुक्खू की सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे है।

 Vikramdaditya Singh, minister in Sukhu government, resigned, said - MLAs were not listened to in the elections

 

हिमाचल प्रदेश में मंगलवार को हुए राज्यसभा के एक मात्र सीट के चुनाव में मिली हार के बाद से ही सुखविंदर सिंह सुक्खू की सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे है। पहलेे वोटिंग के दौरान 6 विधायकों की तरफ से की गई क्रॉस वोटिंग से सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील और पार्टी प्रत्याशी अभिषेक मनु सिंघवी की हार और अब कैबिनेट मंत्री विक्रमदादित्य सिंह के मंत्री पद से इस्तीफे ने नई मुसीबत खड़ी कर दी है। बता दें कि विक्रमदादित्य सिंह हिमाचल के 6 बार सीएम रहे वीरभद्र सिंह के बेटे हैं।

https://twitter.com/hashtag/WATCH?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw

विधायकों की नहीं सुनी गई

राज्यभा चुनाव में मिली हार के बाद बुधवार को सुक्खू सरकार में पीडब्लूडी मंत्री विक्रमदादित्य सिंह ने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। इस दौरान उन्होंने कहा विधायकों की शिकायत का समाधान नहीं हुआ। यह विधायकों की अनदेखी का नतीजा है। मेरी निष्ठा पार्टी के साथ है इसलिए खुलकर बोल रहा हूं। मैं अनुशासित हूं, इसलिए मैंने जितनी बात करनी थी उतनी ही की है। लेकिन प्रदेश में जो हमारे नौजवान साथी हैं जिन्होंने इस सरकार को बनाने के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया। क्या हम उनकी उम्मीदों को पूरा कर पाए। हमने जो बातें की हैं हमारा कर्तव्य है कि उसे समय से पूरा करें।

सिर्फ यह कहना कि हमने किया है यह कहना महत्वपूर्ण नहीं है, लोगों को दिखना चाहिए कि सरकार उनके साथ खड़ी है। जिस तरह से घटनाक्रम हुआ है वह दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं इन सब चीजों को देखकर दुखी हूं। मैंने हमेशा लीडरशिप का सम्मान किया है और सरकार को चलाने में योगदान दिया है। कांग्रेस सरकार में एक साल मंत्री के रूप में जितना हमसे हो सका एक साल के कार्यकाल में हमने पूरी मजबूती से सरकार कासमर्थन किया है। लेकिन मुझे भी अपनानित करने की कोशिश की गई।

https://twitter.com/hashtag/WATCH?src=hash&ref_src=twsrc%5Etfw

 

अल्पमत में है सुक्खू सरकार- जयराम ठाकुर

राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ला से मिलने के बाद राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मीडिया से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि हमने आज राज्यपाल से मिलकर उन्हें राज्य में सियासी हालात के बारे में जानकारी दी है। कांग्रेस सरकार के पास बहुमत नहीं है तो नैतिक आधार पर वो इस्तीफा दें।

बहुमत के लिए 35 विधायकों की जरुरत

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के 6 विधायकों ने राज्यसभा चुनाव के दौरान क्रॉस वोटिंग किया है। बता दें कि हिमाचल प्रदेश के 68 सदस्यी विधानसभा में किसी भी पार्टी को बहुमत के लिए 35 विधायकों की जरुरत है। 2022 विधानसभा चुनाव में भाजपा को राज्य की 25 सीटों पर जीत मिली थी और कांग्रेस ने 40 सीट अपने नाम किया था। वहीं, 3 सीटें अन्य के खाते में थी। ऐसे में अगर कांग्रेस के 6 विधायक सरकार के खिलाफ खड़े रहते है तो कांग्रेस के हाथ से उत्तर भारत का एक मात्र राज्य भी निकल जाएगा।

ट्रेंडिंग वीडियो