10 साल के बच्चे ने सिर्फ 30 सेकंड में बैंक से चुरा लिये 10 लाख रुपये, CCTV से हुआ खुलासा

10 साल के एक बच्चे ने बैंक से 10 लाख रुपये चोरी कर लिए। हैरानी की बात ये है कि, इस घटना को अंजाम देने में उस बच्चे को सिर्फ 30 सेकंड का समय लगा।

By: Faiz

Published: 16 Jul 2020, 12:15 AM IST

नीमच/ मध्य प्रदेश के नीमच जिले के जावद में मात्र 10 साल के एक बच्चे ने बैंक से 10 लाख रुपये चोरी कर लिए। हैरानी की बात ये है कि, इस घटना को अंजाम देने में उस बच्चे को सिर्फ 30 सेकंड का समय लगा। चोरी बैंक के सबसे व्यस्त समय में हुई। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची और बैंक में लगे सीसीटीवी की जांच की तो वारदात को अंजाम देने वाला एक बच्चा सामने आया। तब जाकर बैंक स्टॉफ और बैंक में मौजूद अन्य लोगों को पता चला कि, चोरी की वारदात को अंजाम देने वाला एक बचचा है।

 

पढ़ें ये खास खबर- खुलासा : फर्नीचर कारोबारी से की थी महिला ने दोस्ती, फिर पति और दोस्तों के साथ मिलकर की हत्या और लूट


सीसीटीवी में कैद हुई वारदात

सीसीटीवी फुटेज में एक बच्चा सुबह 11 बजे सहकारी बैंक में आया। सीधे ही कैशियर रुम में दाखिल हुआ। इस दौरान कांउंटर के सामने कई ग्राहक खड़े थे, जिन्हें इस बात का अंदाजा भी नहीं लगा। बच्चे के लिए काउंटर डेस्क के नीचे छुपना आसान था। इसके बाद वो तेजी से नोटों की गड्डी को एक थैले में गिराता रहा और चोरी करने के बाद आसानी से बैंक के बाहर निकल गया। हैरानी इस बात की है कि, चोरी की इस वारदात को उस बच्चे ने मात्र 30 सेकंड में अंजाम दे दिया था।

 

पढ़ें ये खास खबर- Fact Check : 'बिहार के बाद अब इस राज्य में भी लगेगा टोटल लॉकडाउन? पढ़िये सही जानकारी


इस तरह आया गिरफ्त में

हालांकि, जैसे ही वो घटना को अंजाम देकर बैंक से बाहर की ओर दौड़ा, अलार्म बज उठा, जिसके चलते बैंक के गार्ड ने उसे पीछे दौड़कर पकड़ लिया। पुलिस को सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि, बच्चे को 20 साल का कोई युवक निर्देश दे रहा था। ये युवक 30 मिनट तक बैंक के अंदर ही मौजूद था। जैसे ही, उसने देखा कि एक कैशियर अपनी सीट से उठकर दूसरे कमरे में चला गया, तो उसने बच्चे को इशारा देकर बुलाया। इसके बाद वारदात को अंजाम दिया गया।

 

पढ़ें ये खास खबर- बड़ी खबर : फरार आरोपी पत्रकार प्यारे मियां श्रीनगर से गिरफ्तार, MP पुलिस की बड़ी सफलता


पुलिस को इस बात का संदेह

एसपी मनोज राय के मुताबिक, नाबालिग आरोपी बहुत छोटा था, इसलिए कैश काउंटर के सामने खड़े लोगों का उसपर ध्यान ही नहीं गया। जावद पुलिस थाना प्रभारी ओपी मिश्रा ने बताया कि, बैंक के बाहर लगे सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि वारदात के बाद बच्चे को निर्देश देने वाला व्यक्ति और बच्चा अलग-अलग दिशाओं में भागे थे। पुलिस के मुताबिक, पकड़े गए बच्चे के अलावा अन्य कई संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। इलाके में सड़क किनारे स्टॉल लगाने वाले कुछ लोगों से भी घटना के संबंध में पूछताछ की गई है। पुलिस का मानना है कि, घटना को सिर्फ एक बच्चे ने ही अंजाम नहीं दिया बल्कि इसके पीछे कोई पूरा गिरोह है, जिसने कुछ दिनों पहले से ही बैंक की रेकी की, इसके बाद घटना को अंजाम दिया।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned