scriptराजेंद्रग्राम से डिंडौरी को जोडऩे वाला मार्ग अनूपपुर जिले की सीमा में जर्जर, बारिश में बंद हो जाता है आवागमन | शॉर्टकट होने के कारण दोनों जिलों के लोग करते हैं आवागमन, मरम्मत कराने की मांग | Patrika News
समाचार

राजेंद्रग्राम से डिंडौरी को जोडऩे वाला मार्ग अनूपपुर जिले की सीमा में जर्जर, बारिश में बंद हो जाता है आवागमन

अनूपपुर. अनूपपुर जिले से डिंडोरी जिले को जोडऩे वाला मार्ग आज भी जर्जर स्थिति में है। यह मार्ग डिंडोरी जाने का शॉर्टकट है। इस मार्ग से डिंडोरी की दूरी मात्र 20 किलोमीटर है। शॉर्टकट होने के कारण ज्यादातर ग्रामीण इसी रास्ते से विभिन्न कार्यों के लिए राजेंद्र ग्राम से डिंडोरी आवागमन करते हैं। मार्ग के […]

अनूपपुरJun 07, 2024 / 12:09 pm

Sandeep Tiwari

अनूपपुर. अनूपपुर जिले से डिंडोरी जिले को जोडऩे वाला मार्ग आज भी जर्जर स्थिति में है। यह मार्ग डिंडोरी जाने का शॉर्टकट है। इस मार्ग से डिंडोरी की दूरी मात्र 20 किलोमीटर है। शॉर्टकट होने के कारण ज्यादातर ग्रामीण इसी रास्ते से विभिन्न कार्यों के लिए राजेंद्र ग्राम से डिंडोरी आवागमन करते हैं। मार्ग के जर्जर स्थिति में होने के कारण राहगीरों को परेशानी उठानी पड़ती है। स्थानीय लोगों ने इसकी मरम्मत कराए जाने की मांग की है। पुष्पराजगढ़ जनपद अंतर्गत ग्राम पंचायत पोड़की से होकर फर्रीसेमर होते हुए डिंडोरी जिले से जोडऩे वाले इस मार्ग अनूपपुर जिले की सीमा का हिस्सा ही जर्जर। डिंडौरी जिले की सीमा में मार्ग की हालत काफी अच्छी है। रोजाना सैकड़ों की संख्या में लोग यहां से आना जाना करते हैं, लेकिन जर्जर मार्ग की मरम्मत न होने के कारण आवागमन में स्थानीय लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। राजेंद्रग्राम क्षेत्र से डिंडोरी जाने वाले लोगों के लिए यह मुख्य मार्ग है फिर भी आज तक यह कच्चा तथा पगडंडी नुमा ही है। अनूपपुर जिले की सीमा में लगभग 3 किलोमीटर सड़क काफी जर्जर है। बड़े बड़े गड्ढे होने के कारण बड़े वाहनों का गुजरना मुश्किल होता है।
लंबे समय से कर रहे निर्माण की मांग

स्थानीय हरीश धुर्वे ने बताया कि डिंडोरी तथा अनूपपुर जिले के लोग विभिन्न कार्यों को लेकर एक दूसरे पर आश्रित हैं। दोनों ही जिलों के लोग इस मार्ग से आवागमन करते हैं। डिंडौरी जिले की सीमा से प्रारंभ होने वाली सड़क पक्की है लेकिन अनूपपुर जिले की सीमा से प्रारंभ होने वाली सड़क कच्ची होने की वजह से आवागमन करना मुश्किल होता है। इस मार्ग से डिंडोरी कम समय में वह पहुंच जाते हैं साथ ही दूरी भी कम होने से उन्हें राहत मिलती है, जिसको देखते हुए इसके निर्माण की मांग की गई है।
विद्यार्थियों के लिए भी उपयोगी है मार्ग यह मार्ग

आम लोगों के साथ डिंडौरी जिले से आने वाले विद्यार्थियों के लिए भी उपयोगी है। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजाति विश्वविद्यालय में अध्यनरत डिंडौरी निवासी छात्र विकास चंदेल ने बताया कि कच्ची सड़क होने के कारण बारिश के मौसम में इस मार्ग पर आवागमन पूरी तरह से बंद हो जाता है। कच्ची मिट्टी होने के कारण वाहनों के पहिए यहां फंस जाते हैं, जिसकी वजह से बारिश के दिनों में इस मार्ग का उपयोग बंद हो जाता है।
मामले की जानकारी आपसे प्राप्त हुई है। सड़क के संबंध में जानकारी लेते हुए यदि यह लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत होगा तो इसका जल्द से जल्द सुधार कराया जाएगा।

डीके कोस्टा, कार्यपालन अभियंता पीडब्ल्यूडी अनूपपुर

Hindi News/ News Bulletin / राजेंद्रग्राम से डिंडौरी को जोडऩे वाला मार्ग अनूपपुर जिले की सीमा में जर्जर, बारिश में बंद हो जाता है आवागमन

ट्रेंडिंग वीडियो