रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहे डॉक्टर सहित तीन लोग गिरफ्तार

थाना सेक्टर-24 पुलिस और क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार। अब तक 12 लोगों को बेच चुके हैं इंजेक्शन। सोशल मीडिया के माध्यम से जरूरतमंदों से संपर्क साधते थे।

By: Rahul Chauhan

Published: 01 May 2021, 11:41 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। थाना सेक्टर-24 पुलिस और क्राइम ब्रांच ने जॉइंट ऑपरेशन में रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहे डॉक्टर सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से तीन इंजेक्शन, तीन मोबाइल और ब्रेजा कार बरामद की है। दरअसल, पुलिस की गिरफ्त में आए डाक्टर निशरत, हमजा, मुजिबुर्र रहमान पर रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने का आरोप है।

यह भी पढ़ें: कोरोना महामारी में जुगाड़ तंत्र से लोगों की जान बचाने में जुटा स्वास्थ्य विभाग

डीसीपी क्राइम अभिषेक सिंह ने बताया कि दिल्ली के लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल के डॉक्टर निशरत इमाम जरूरतमंदों के नाम पर अस्पताल और ठीक हो चुके संक्रमितों के पास बचे इंजेक्शन को एकत्र करके आरोपित हमजा और मुजिबुर्र रहमान के साथ मिलकर जरूरतमंद लोगों को 35 हजार रुपये में बेचता था। अब तक आरोपितों ने करीब 12 लोगों को इंजेक्शन बेचे हैं। हमजा और मुजीबुर्ररहमान गाजियाबाद के साहिबाबाद की पीर कालोनी के रहने वाले हैं।

उन्होंने बताया कि आरोपियों में एक मनी ट्रांसफर की दुकान चलाता है और दूसरा नोएडा की फार्मेसी में काम करता है। दोनों आरोपियों की मुलाकात डॉ. निशरत इमाम से उस समय हुई थी, जब वह अपने एक परिचित के लिए रेमडेसिवीर इंजेक्शन की तलाश कर रहे थे। डॉक्टर नुसरत के पास से पुलिस ने एक ब्रेजा कार में रखी रेमडेसिवीर 100 एमजी के 3 इंजेक्शन बरामद किए गए हैं।

यह भी पढ़ें: महापौर आशा शर्मा भी हुईं कोरोना संक्रमित, पति की हालत में सुधार

उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि ये लोग कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क करते थे तथा उन्हें ऊंचे दाम पर रेमडेसिवीर इंजेक्शन बेचते थे। डॉ. निशरत इमाम ऐसे संक्रमितों के संपर्क में रहता था, जो संक्रमण से ठीक हो चुके हैं और अब उन्हें रेमडेसिवीर इंजेक्शन की जरूरत नहीं थी। उनसे डॉ. निशरत बाजार दर पर इंजेक्शन खरीदता था और फिर उसकी कालाबाजारी करता था। पूछताछ में तीनों ने बताया कि अब तक वे करीब 12 लोगों को 35 हजार रुपये की दर से इंजेक्शन बेच चुके हैं।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned